छत्तीसगढ़

बिलासपुर की सभी सामाजिक संस्थाओं ने मिलकर किया ध्वजारोहण का आयोजन

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा

बिलासपुर: 15 अगस्त 1947 को हमारा देश 200 साल से ज्यादा की गुलामी की जंजीरों को तोड़कर खुद को आज़ाद किया था. इस आज़ादी के लिए कई क्रांतिकारीयो ने बलिदान दिया. वही कई लोगो को फाँसी पे चढ़ा दिया गया. लेकिन सभी क्रांतिकारीयों ने ब्रिटिश सरकार को घुटने टेकने और देश छोड़ने पर मजबूर कर दिया. जिसके बाद हमारे देश को आज़ादी मिली जिसकी वजह से आज हम सब आज़ाद हिंदुस्तान में सांस ले रहे है. लेकिन वर्तमान की अहमियत को समझने के लिए भूतकाल के बलिदानो को याद करना भी ज़रूरी है.

स्वतंत्रता दिवस की इसी कड़ी में बिलासपुर की सभी सामाजिक संस्थाओं ने मिलकर ध्वजारोहण का आयोजन किया जिसमें मुख्य अतिथि के तौर पर बिलासपुर शहर के सफाई कर्मी के स्टाफ थे जिनके साथ मिलकर ध्वजारोहण किया गया, जिसके बाद राष्ट्रीय गान से तिरंगे को सम्मान दिया गया , सफाई कर्मचारियों को उनके कार्य के प्रति प्रशंसा पत्र भी दिया गया.

जिसके बाद सभी संस्था ने जुग्गी झोपड़ी में रह रहे अरपा नदी के समीप के बच्चो के लिए पेंटिंग कॉम्पिटिशन का आयोजन किया जिसमें 30 बच्चो ने हिस्सा लिया , पेंटिंग कॉम्पिटिशन में हिस्सा लेने वाले बच्चो को गिफ्ट भी दिया गया और स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है इसकी जानकारी बच्चो को दी गई.

इस पूरे कार्यक्रम में दावत ए आम , ख़्वाब वेलफेयर फाउंडेशन , दहलीज़ फाउंडेशन ,यूथ अगेन्स्ट रेप , के जिम्मेदार सदस्यो ने अपनी सेवायें दी और सभी कार्यक्रमो को सफल बनाया जिसमे शेख अब्दुल मन्नान, शाहरुख अली, ब्रेंडन डिसूजा , मोइनुद्दीन अंसारी, हीना खान , मोहम्मद नज़ीम , शेख सुल्तान , शेख इमरान , समीर , साबिर, अफ़ज़ल ,आसिफ , आमिर , मानसी , नामा , गौतम, रूपेश कुशवाहा , इशिता चक्रवर्ती , विनय चंद्रा , मयंक नायडू , अंजलि बर्णवाल , लोकिता चंद्रा , अरबाज़ , फ़ैज़ , ज़ीशान ,आरिफ़, इमरान आदि शामिल रहे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button