छत्तीसगढ़

अंबेडकर अस्पताल में चीफ सेक्रेटरी आरपी मंडल बनकर पहुंचा कथित व्यक्ति

सभी स्टॉफ के सामने आपत्तिजनक टिप्पणी का अस्पताल में मचाया हल्ला

रायपुर: अस्पताल का निरीक्षण करने चीफ सेक्रेटरी आरपी मंडल बन आए कथित ने निरीक्षण के दौरान वो अस्पाल के डॉ विवेक चौधरी के बारे में सभी स्टॉफ के सामने आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए दरूवा और पियक्कड़ तक बता डाला और चमकाते हुए अस्पताल में मिली खामियों को ठीक करने के निर्देश दिए.

वहीं दूसरे दिन भी कथित चीफ सेक्रेटरी फिर अस्पताल पहुंचा और अस्पताल में हल्ला मच गया कि अस्पताल का निरीक्षण करने चीफ सेक्रेटरी आरपी मंडल साहब आ गए है. आनन-फानन में अस्पताल के अधीक्षक डॉ विवेक चौधरी, सहअधीक्षक डॉ अल्ताफ यूसुफ मीर भी वहां पहुंचे.

तभी स्टॉफ ने उन्हें बताया कि यही आरपी मंडल साहब हैं, जो कल भी आए थे. इतने में डॉ चौधरी उक्त अधिकारी को पहचान गए और कहा कि ये तो डीएचएस में पदस्थ डॉ राजेश शर्मा है जो अपने आप को चीफ सेक्रेटरी कहकर कल पूरे दिन निरीक्षण कर चुका है.

डॉ विवेक चौधरी ने उक्त स्वास्थ्य विभाग राजेश शर्मा की जमकर क्लास ली

फिर क्यां था डॉ विवेक चौधरी ने उक्त स्वास्थ्य विभाग राजेश शर्मा की जमकर क्लास ली और उन्हें अस्पातल से बाहर करने बाउंसर को निर्देश दिए. इतना नहीं नहीं कथित सीएस ने डॉ अल्ताफ को लेकर भी कई आपत्ती जनक टिप्पणी की जो बेहद ही अशोभनीय है.

इस पूरी घटना की पुष्टि अस्पताल के सहअधीक्षक डॉ अल्ताफ यूसुफ मीर ने करते हुए बताया कि उन्हें मुझे भी जातिगत गाली दी और डीएमई को लेकर भी आपत्तिजनक बाते कही और अब अस्पताल प्रबंधन इस पूरे मामले को लेकर मंत्री और उच्च अधिकारियों से शिकायत की तैयारी कर रहे है.

हालांकि इस मामले में हमने कथित चीफ सेक्रेटरी डॉ राजेश शर्मा को भी फोन कर उनसे पूरे घटना की जानकारी चाही, लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया. इस मामले के सामने आने के बाद बाद स्वास्थ्य महकमें में हड़कंप मच गया है.

स्वास्थ्य संचालक नीरज बंछोड़ ने कहा कि राज्य कार्यक्रम अधिकारी डॉ राजेश शर्मा मेरे निर्देश के बाद ही गए थे. पिछले दिनों मुख्य सचिव की ओर से अस्पतालों में मरीजों की सुविधाओं की बेहतरी के निर्देश मिले थे. इस निर्देश के बाद हम लगातार अस्पताल का जायजा ले रहे है.

मैं खुद भी अंबेडकर अस्पताल की व्यवस्थाओं का दो बार निरीक्षण कर चुका हूं. यह हमारा रूटीन दौरा हैं.

Tags
Back to top button