कोरोना वायरस से संक्रमण को देखते हुए इस वर्ष नहीं होगी अमरनाथ यात्रा

श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की बैठक में लिया गया एकमत निर्णय

जम्मू: चारधाम यात्रा के बाद अब जम्मू कश्मीर स्थित बाबा बर्फानी के दर्शनों के लिए 23 जून से प्रस्तावित अमरनाथ यात्रा पर संशय के बादल मंडराने लगा है, जिसको देखते हुए अमरनाथ यात्रा इस वर्ष नहीं निकालने का निर्णय लिया गया है.

कोरोना वायरस से संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड की बैठक में एकमत से लिया गया. वहीं बोर्ड ने प्रथम पूजा और संपन्न पूजा को पारंपरित उत्साह के साथ मनाने का निर्णय लिया.

जम्मू-कश्मीर के लेफ्टिनेंट गवर्नर गिरीश चंद्र मुर्मू की अध्यक्षता में बुधवार को राजभवन में बोर्ड की 38वीं बैठक आयोजित हुई. चर्चा में 77 रेड जोन चिन्हित किए गए, जहां से यात्रा होकर गुजरेगी. कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लंगर, चिकित्सा सुविधा, कैम्प स्थापना, सामानों को लाने-जे जाने, बर्फ साफ करना मुमकिन नहीं है.

अध्यक्ष ने कहा कि सरकार के 3 मई तक के लॉकडाउन घोषित किया है, लेकिन इसके बाद क्या स्थिति बनेगी, इसको लेकर कुछ कहा नहीं जा सकता है. ऐसे में यात्रियों की सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है.

बोर्ड ने प्रथम पूजा और संपन्न पूजा पूरे पारंपरिक उत्साह के साथ आयोजित करने के अलावा देश-दुनिया में बर्फानी बाबा के भक्तों के लिए ऑनलाइन शिवलिंग की पूजा और दर्शन कर पाने के विकल्पों पर गौर करने का निर्णय लिया गया. बोर्ड के सदस्यों ने अमरनाथ यात्रा कोरोना वायरस के संक्रमण के समय आयोजित न कर कोरोना संक्रमण के समय सभी के लिए यह उदाहरण पेश करने की बात कही.

बैठक में डीसी रैना, प्रो. अनिता बिल्लावारिया, डॉ. सुदर्शन कुमार, डॉ. सीएम सेठ, प्रो. विश्वमूर्ति शास्त्री, सीईओ बिपुल पाठक, एडिशनल सीईओ अनूप कुमार सोनी के अलावा बोर्ड के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे. बैठक में स्वामी अवधेशानंद गिरीजी महाराज और डॉ. देवी प्रसाद शेट्टी वीडिया कांफ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए.

Tags
Back to top button