अंबानी ने केरल बाढ़ पीड़ितों को दिए 70 करोड़

रिलायंस फाउंडेशन की अध्यक्ष नीता एम. अंबानी ने की घोषणा

नई दिल्ली। अब देश की सरकारें ही नहीं बल्कि बल्कि कॉरपोरेट ग्रुप बड़े घरानों ने भी केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए अपने खजाने खोल दिए हैं। इस बार जिस कॉरपोरेट घराने का नाम सामने आया है वो रिलायंस ग्रुप का है। खास बात तो ये है कि इस कॉरपोरेट घराने ने देश के तमाम राज्यों द्वारा भेजी गई रकम से ज्यादा रुपया केरल को भेजा है। साथ में करोड़ों रुपयों की राहत सामाग्री भी भेजी है। इससे पहले यूएई में बिजनेस कर रहे भारतीय मूल के लोगों ने केरल बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए करोड़ों रुपए भेजे थे।

50 करोड़ की राहत सामग्री , मुख्यमंत्री राहत कोष में 21 करोड़ रुपए का दान देने की घोषणा
रिलायंस फाउंडेशन (आरएफ) की अध्यक्ष नीता एम. अंबानी ने 50 करोड़ रुपए की राहत सामग्री देने के साथ-साथ केरल के मुख्यमंत्री राहत कोष में 21 करोड़ रुपए का दान देने की घोषणा की। बाढ़ प्रभावित राज्य के लिए एक बहुपक्षीय बचाव, राहत और पुनर्वास कार्यक्रम शुरू करने के लिए यह दान दिया गया है।

आरएफ की प्रमुख ने कहा, हम एक नागरिक के रूप में और एक जिम्मेदार कॉपोर्रेट फाउंडेशन के रूप में जरूरत की इस घड़ी में राज्य में राहत के प्रयासों को पूरी तरह से समर्थन देने और केरल के लोगों के साथ दृढ़ता से खड़ा होना अपना कर्तव्य समझते हैं। आरएफ की टीम 14 अगस्त से एनार्कुलम, वायनाड, अलप्पुझा, त्रिशूर, इडुक्की और पथानमथिट्टा जिलों में राहत प्रयासों में जुटी है।

बजाज आॅटो ग्रुप ने भी भेजी सहायता
आॅटोमोबाइल प्रमुख बजाज आॅटो ने मुख्यमंत्री राहत कोष में एक करोड़ रुपए देने की घोषणा की है। जानकीदेवी बजाज ग्राम विकास संस्थान द्वारा एक करोड़ रुपए और विभिन्न बजाज ट्रस्ट द्वारा 50 लाख रुपए पहले ही योगदान किया जा चुका है। बजाज आॅटो अध्यक्ष आरसी महेश्वरी ने कहा कि कंपनी का लक्ष्य कम से कम 1,000 परिवारों को सहायता प्रदान करना है, जिसमें बेसिक सहायता किट, पानी के फिल्टर, टारपोलिन की चादरें, नायलॉन रस्सी, रसोई सेट, प्लास्टिक स्लीपिंग मैट, कंबल, तौलिए और साबुन शामिल हैं।

ये भी कर रहे हैं सहायता
सेंट्रल रेलवे के 90,000 कर्मचारी और अधिकारी स्वेच्छा से अपने वेतन से प्रधानमंत्री राहत कोष में योगदान देंगे। मुंबई डब्बावाला एसोसिएशन के अध्यक्ष सुभाष तालेकर ने 13 वर्षीय तिलक मेहता द्वारा शुरू की गई एक एप-आधारित कूरियर सेवा पेपर एन पार्सल के साथ खाद्य सामग्री, दवाएं और प्राथमिक चिकित्सा किट भेजा है। मुंबई डब्बावाले मुख्यमंत्री निधि में अपनी एक सप्ताह की कमाई भी दान में देंगे।

Back to top button