छत्तीसगढ़

हमर छत्तीसगढ़ आवासीय परिसर में अम्बेडकर जयंती को सामाजिक न्याय दिवस के रूप में मनाया गया

पांच जिलों के 448 पंच-सरपंच हुए शामिल

रायपुर : संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर आज 14 अप्रैल को नया रायपुर स्थित हमर छत्तीसगढ़ आवासीय परिसर में सामाजिक न्याय दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर सरगुजा, कोरबा, बस्तर, गरियाबंद और कबीरधाम जिले से कुल 448 पंच-सरपंच सहित अन्य पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ आदिम जाति कल्याण विभाग के संचालक जी.आर. चुरेन्द्र और पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के संचालक तारण प्रकाश सिन्हा ने डॉ. अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर किया।

कार्यक्रम में संचालक चुरेन्द्र ने संबोधित करते हुए कहा कि आज संविधान निर्माता डॉ. भीमराव अम्बेडकर की जयंती को सामाजिक न्याय दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने समाज के गरीब, पिछड़े तथा दलित व्यक्तियों के उत्थान के लिए डॉ. अम्बेडकर के प्रयासों और संघर्षों का उल्लेख किया। उन्होंने इससे सीख लेते हुए सभी पंचायत प्रतिनिधियों को समाज और गांव के हर वर्ग के लोगों के हित में हर संभव कार्य करने के लिए कहा।

उन्होंने गांव में सामाजिक कुरीतियों से दूर रहने के लिए भी लोगों में जागरूकता लाने विशेष जोर दिया। इस दौरान उन्होंने वर्तमान और भावी पीढ़ी की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए गांव-गांव में जल संवर्धन और वृक्षारोपण के लिए अधिक से अधिक प्रयास करने के लिए कहा। कार्यक्रम को संचालक सिन्हा ने भी संबोधित किया और पंच-सरपंचों को हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत राजधानी भ्रमण का लाभ उठाते हुए अपने-अपने गांव तथा पंचायत का समग्र विकास करने के लिए जोर दिया।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *