छत्तीसगढ़

अम्बिकापुर को मिला क्लीन सिटी का अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार

8वें रिजनल थ्री आर फोरम इन एशिया एण्ड पैसेफिक क्लीन सिटी अंबिकापुर को संयुक्त राष्ट्र संघ के थ्री आर फोरम में मिला अवार्ड

अंबिकापुर : छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर शहर को क्लीन सिटी के अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार से बुधवार की रात इंदौर में नवाजा गया है। इस उपलब्धि पर कलेक्टर किरण कौशल द्वारा आज अंबिकापुर को एट्थ रिजनल थ्री आर फोरम इन एशिया एंड पैसेफिक क्लीन सिटी छत्तीसगढ़ को संयुक्त राष्ट्र संघ के थ्री आर फोरम में अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त होने पर निगम के जनप्रतिनिधियों तथा अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हार्दिक बधाई दी गई है।

निगम की ओर से यह पुरस्कार नगरीय प्रशासन के संचालक निरंजन दास, सूडा के डिप्टी सीईओ आरके नारंग, निगम आयुक्त सूर्यकिरण तिवारी, स्वच्छ अंबिकापुर मिशन सहकारी समिति की अध्यक्ष शशिकला सिन्हा एवं संगीता गुप्ता, सहायक अभियंता सुनील सिंह सहित अन्य पदाधिकारियों द्वारा मध्यप्रदेश के इंदौर शहर के ब्रिलिएन्ट कॉन्वेंशन सेंटर विजय नगर में प्राप्त किया गया।

पुरस्कार से पूर्व विभिन्न शहरों से आए महापौर एवं प्रबंधन के अधिकारियों द्वारा सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर आधारित त्रिदिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कलेक्टर ने बताया कि नगर को स्वच्छ रखने निगम प्रबंधन द्वारा सतत एवं सार्थक प्रयास किया जा रहा है।

निगम के जनप्रतिनिधियों द्वारा अंबिकापुर को क्लीन सिटी का अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त होने पर स्थानीय नागरिकों के सतत सहयोग की प्रशंसा करते हुए बधाई प्रेषित की गई है।

स्वच्छता में ये मिल चुके हैं पुरस्कार : कलेक्टर किरण कौशल के मार्गदर्शन में स्वच्छ अम्बिकापुर मिशन सहकारी समिति द्वारा डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण का कार्य किया जा रहा है। मिशन की शुरूवात अप्रैल 2015 में पहले ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन केन्द्र का संचालन निगम क्षेत्रान्तर्गत आने वाले केनाबांध में हुई थी। कचरा प्रबंधन के कार्य में समिति की 430 महिलाओं द्वारा अपने दायित्वों का निर्वहन किया जा रहा है। स्वच्छता के लिए अंबिकापुर को कई स्तरों पर सम्मानित किया गया है।

अब तक शहर को स्कॉच स्वच्छ भारत अवार्ड 2016 के तहत 2 लाख जनसंख्या की श्रेणी में स्वच्छ सिटी नेशनल अवार्ड, छत्तीसगढ़ राज्य का खुले में शौचमुक्त प्रथम नगर निगम आदि पुरस्कार प्राप्त हुए। अंबिकापुर स्वच्छता मॉडल को देश और राज्य के अनेक शहरों में लागू किया जा रहा है। खुले में शौचमुक्त एवं स्वच्छता सर्वेक्षण में देश में प्रथम आने पर केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री द्वारा निगम को सम्मानित किया जा चुका है।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *