अम्बिकापुर : ’किसानों से खाद-बीज का अग्रिम उठाव तेजी से कराएं-कलेक्टर’

’समय-सीमा की ऑन लाईंन बैठक सम्पन्न’

अम्बिकापुर 18 मई 2021 : कलेक्टर संजीव कुमार झा ने मंगलवार को समय- सीमा की ऑन लाईंन बैठक में विभागीय कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने खरीफ सीजन में खाद एवं बीज के लक्ष्यए भंडारण तथा अग्रिम उठाव की समीक्षा करते हुए कहा कि समितियों से केसीसीस के माध्यम से खाद एवं बीज का अग्रिन उठाव के लिए कृषि विभाग के अधिकारी किसानों को प्रोत्साहित कर तेजी लाएं।

कलेक्टर ने कहा कि राज्य शासन के द्वारा शून्य प्रतिशत व्याज पर किसानों को केसीसी के माध्यम से सहकारी समितियों के द्वारा ऋण की सुविधा दी जाती है । अधिक से अधिक किसानों को इसका फायदा दिलाये। उन्होंने कहा कि किसानों को खरीफ फसल के लिए कम से कम 10 हजार मीट्रिक टन खाद का अग्रिम उठाव कराये। जिले के किसानों को खाद बीज की कमी न हो इसके लिए निर्धारित लक्ष्य के अनुसार पर्याप्त भंडारण करें।

बताया गया कि अब तक 1243 मीट्रिक टन उर्वरक का अग्रिम उठाव किसानों के द्वारा किया गया है तथा शासकीय और निजी गोदामो में करीब 14 हजार 560 मीट्रिक टन उर्वरक का भंडारण कर लिया गया है। इस खरीफ सीजन में मार्कफेड को 16662 मीट्रिक टन उवर्क भंडारण का लक्ष्य रखा गया है। इसी प्रकार बीज वितरण के लिए इस वर्ष 21 हजार 240 क्विंटल लक्ष्य निर्धारित किया गया है तथा अब तक 3 हजार 780 क्विंटल बीज का भंडारण कर लिया गया है। किसानों ने 328 क्विंटल बीज का अग्रिम उठाव कर लिया है।

गोठानो में निर्मित वर्मी खाद

कलेक्टर ने गोठानो में निर्मित वर्मी खाद को केसीसी के माध्यम से सहकारी समितियों के द्वारा विक्रय करने में नवगठित 12 समितियों में आ रही दिक्कत को जल्द दूर करने के निर्देश जिला सहकारी बैंक तथा सहकारिता विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि नवगठित समितियों को जब तक लाइसेंस नही मिल जाता तब तक पुराने समितियों के माध्यम से किसानों को केसीसी से वर्मी खाद खरीदने की सुविधा दें। नए समिति के अंतर्गत आने वाले किसानों को इसकी जानकारी दें।

बताया गया कि केसीसी के माध्यम से किसान प्रति हेक्टेयर करीब 39 हजार रुपये का सामग्री ले सकते है तथा प्रति हेक्टेयर करीब 1 हजार 600 रुपये का वर्मी खाद खरीद सकते हैं। कलेक्टर ने कहा कि जिला सहकारी बैंक के माध्यम से जिले के ऋणी और अऋणी किसानों तथा उनके पास उपलब्ध कृषि भूमि की सूची तैयार करें ताकि खरीफ सीजन में धान की खेती के लिए किसानों को वर्मी खाद की।आवश्यकता का आकलन किया जा सके।

कस्टम मिलिंग

’कस्टम मिलिंग में कोताही बरतने वाले मिलर्स होंगे ब्लैक लिस्टेड-कलेक्टर ने धान के कस्टम मिलिंग की समीक्षा करते हुए कहा कि जो मिलर्स कस्टम मिलिंग में रुचि नही ले रहे उन पर कार्यवाही करें।अगले दो दिन में कस्टम मिलिंग शुरू नही करने वाले मिलर्स का नाम ब्लैक लिस्ट में डालें। कलेक्टर ने कहा कि अभी भी समितियों में करीब 12 हजार मीट्रिक टन धान का उठाव करना शेष है।

’प्रतिदिन 5 हजार से अधिक हो कोरोना टेस्टिंग – कलेक्टर ने कहा कि अब प्रतिदिन कोरोना टेस्टिंग 5 हजार से अधिक करें। किसी भी हाल में 5 हजार से कम टेस्टिंग न हो। गॉंव में भी टेस्टिंग बढ़ाएं। उन्होंने ब्लाक स्तर पर संचालित कोविड कंट्रोल रूम की मॉनिटरिंग के लिए खंड शिक्षा अधिकारियो को भी दिन में कंट्रोल रूम में बैठने के निर्देश दिये।

बैठक में जिला पंचायत के सीईओ विनय कुमार लंगेह, सहायक कलेक्टर श्वेता सुमन, अपर कलेक्टर एएल धु्रव सहित विभिन्न विभागो के जिला अधिकारी ऑनलाईंन जुड़े हुए थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button