अमेरिका ने इन दोनों चीनी कंपनियों पर कारोबार करने से लगाया बैन

5-0 की वोटिंग के आधार पर इन कंपनियों को खतरनाक बताया

वाशिंगटन: अमेरिका के फेडरल कम्युनिकेशन कमिशन ने मंगलवार को 5-0 की वोटिंग के आधार पर Huawei टेक्नोलॉजी और ZTE कॉर्प इन दोनों चीनी कंपनियों को खतरनाक बताया. अमेरिकी सरकार ने इन कंपनियों से करार भी किया हुआ था, इसमें 8.3 बिलियन डॉलर का सामान खरीदना था, लेकिन अब इसपर भी रोक लग गई है.

बता दें कि भारत में भी Huawei पर संकट बरकरार है, बीते दिनों केंद्रीय मंत्रिमंडल की हुई बैठक में इस मसले पर चर्चा हुई. जिसमें 5जी नेटवर्क आवंटन में Huawei दावेदार है, लेकिन अब इसपर रोक लग सकती है.

अमेरिका के FCC चेयरमैन अजित पाई ने मंगलवार को अपने एक बयान में कहा कि हम चीनी कंपनी को हमारे नेटवर्क साझा नहीं कर सकते हैं, जिससे हमारे कम्युनिकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर को नुकसान पहुंच पाए. हालांकि, अभी तक इस फैसले पर दोनों कंपनियों का कोई बयान सामने नहीं आया है.

आपको बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल मई में एक आदेश पारित किया था. जिसके अनुसार, जो भी कंपनी देश की सुरक्षा के लिए खतरा है उनके साथ किसी तरह की टेलिकम्युनिकेशन का कारोबार नहीं किया जाएगा. अमेरिकी प्रशासन का पहले से ही Huawei के साथ विवाद चल रहा है और इसे ब्लैक लिस्ट में डाला गया है.

अमेरिका की ओर से अन्य देशों से भी कहा जा रहा है कि वे Huawei के साथ काम ना करें, क्योंकि ये सुरक्षा के लिए खतरा है. बता दें कि इससे पहले भारत ने भी सोमवार को 59 चीनी कंपनियों पर बैन लगा दिया, इनको सुरक्षा के लिए खतरा बताया गया.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button