अमेरिका ने विनाशकारी साइबर हमले के लिए रूस की निंदा की

वाशिंगटन: अमेरिका ने इतिहास के सबसे विनाशकारी साइबर हमले के लिए रूस की आलोचना की है, जिसने दुनिया भर के कंप्यूटरों को ठप कर दिया था। ‘सीएनएन’ के अनुसार, पिछले साल ‘नोटपेटा’ नामक साइबर हमले की शुरुआत यूक्रेन के कंप्यूटरों को निशाना बनाकर की गई, लेकिन दुनिया भर की कंपनियां जैसे ब्रिटिश विज्ञापन समूह डब्ल्यूपीपी, ओरियो मेकर मोंडेलेज, दवा उत्पादक मर्क और वैश्विक शिपिंग कंपनी फेडेक्स प्रभावित हुईं।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने गुरुवार को कहा, ‘यह यूक्रेन को अस्थिर करने के लिए क्रेमलिन के लगातार प्रयासों का ही एक भाग था, जो वर्तमान संघर्ष में रूस की भागीदारी को और अधिक स्पष्ट करता है।’

व्हाइट हाउस के बयान के मुताबिक, इस हमले के कारण ‘यूरोप, एशिया और अमेरिका भर में अरबों डॉलर का नुकसान हुआ।’ एक बयान में गुरुवार को ब्रिटिश सरकार ने हमले के लिए रूसी की निंदा की थी।

उन्होंने कहा था, ‘यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।’ वहीं, रूस ने ब्रिटेन के आरोपों को खारिज करते हुए उसे निराधार बताया है।क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने कहा, “हम इस तरह के आरोपों को स्पष्ट रूप से खारिज करते हैं और हम उन्हें निराधार मानते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘बगैर किसी सबूत के यह केवल रशियोफोबिक अभियान से ज्यादा कुछ नहीं है।’

new jindal advt tree advt
Back to top button