आमगांव बहुचर्चित इंजीनियर शिवम मिश्रा हत्याकांड, पत्नी ही निकली मास्टरमाइंड

प्रेमी सहित दो सुपारी किलर गिरफ्तार

ऋषिकेश मुखर्जी

रायगढ़। तमनार की आमगांव के बहुचर्चित इंजीनियर शिवम मिश्रा हत्याकांड कांड का खुलासा शुक्रवार को पुलिस किया। प्लान के मास्टरमाइंड आरोपी की पत्नी और उसका प्रेमी के साथ दो सुपारी किलर को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। इस पूरे हत्याकांड के पीछे अवैध प्रेम संबंध का मामला है।

पुलिस के अनुसार मृतक की पत्नी का एक युवक कान्हा दास के साथ 2 वर्ष से अवैध शारीरिक संबंध था जो पेशे से कंप्यूटर आॅपरेटर है। जिसकी भनक मृतक को लग गई थी। पति-पत्नी में इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ और मृतक की पत्नी सुंदरगढ़ उड़ीसा चली गई।

जहां से मृतक शिवम की पत्नी ने फोन पर पति की हत्या की प्लानिंग की गई। इसके लिए दो सुपारी किलर को एक लाख में तय किया गया। जिसकी पहली किस्त 20000 उनके अकाउंट में जमा कर दी गई और बाकी रकम काम होने के बाद तय किया गया।

8 जून की रात मोटर साइकिल में बैठकर आशिक कान्हा दास और और दोनों सुपारी किलर सूरजभान सिदार और चनेश सिदार सुपारी किलर उसकी हत्या के इरादे से निकल पड़े। रास्ते में सराईडीपा चौक से निकले हुकरडीपा गोल्डी ढाबा में तीनों ने रात 10:00 से 11:00 के बीच खाना खाया। फिर मोटर साइकिल में तीनों बैठकर आमगांव करीब रात को 1 बजे पहुंचे.

रात को मृतक शिवम के घर के पिछवाड़े से उन्होंने घर में प्रवेश किया। दोनों कमरे के अंदर गए और उन्होंने शिवम की हत्या कर दी उसके बाद सुपारी किलर चनेश सिदार ने फोन कर बाहर खड़े प्रेमी कान्हा दास को फोन पर सूचना दी कि काम हो गया है और अपने मोबाइल से टॉर्च जलाकर उसकी फोटो दिखाई।

सुबह प्रेमी कान्हा दास ने मृतक की पत्नी को 6:00 बजे फोन कर हत्या की सूचना दे दी। पुलिस ने चारों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। हत्या में प्रयुक्त हथियार मोबाइल नकद बाइक बरामद की है।

Back to top button