सुरक्षा एजेंसियों के अलर्ट के बाद बढ़ाई गई अमित शाह की सुरक्षा

सुरक्षा एजेंसियों ने अमित शाह की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की, जिसमें उनकी जान को खतरा बताया

नई दिल्ली। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की जान को खतरा बना हुआ है। यह हम नहीं बल्कि सुरक्षा एजेंसिया कह रही है।

हाल ही में सुरक्षा एजेंसियों ने अमित शाह की सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की, जिसमें उनकी जान को खतरा बताया गया है।

मामले से जुड़ी आईबी की खूफिया रिपोर्ट पर गृह मंत्रालय ने अब भाजपा अध्यक्ष की सुरक्षा बढ़ाने का फैसला किया है। गृह मंत्रालय ने शाह की सुरक्षा बढ़ाकर अब जेड प्लस प्लस कर दी है।

हालांकि इससे पहले उनको जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई थी। 2014 के तुरंत बाद मिली इस श्रेणी की सुरक्षा में उन्हे 36 सुरक्षाकर्मी मिले हुए थे, जिसमें 10 एनएसजी और एसपीजी कमांडो और बाकी पुलिस दल के लोग शामिल थे।

राज्यों को चिट्ठी लिखकर सूचना दी

गृह मंत्रालय की ओर से इस संबंध में सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर सूचना दी गई है। दरअसल, इस साल राजस्थान, मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में होने हैं, जबकि अगले साल 2019 में लोकसभा चुनाव भी कराए जाने हैं।

ऐसे में भाजपा अध्यक्ष को देश के अलग-अलग राज्यों में लगातार दौरा करने होंगे। आपको बता दें कि शाह की सुरक्षा व्यवस्था पर खर्चे को लेकर उठे सवाल पर केंद्रीय सूचना आयोग (सीआईसी) ने ब्यौरा देने से इनकार कर दिया था।

आयोग ने इसके लिए आरटीआई कानून के ‘निजी सूचना’ और ‘सुरक्षा’ संबंधी छूट वाले प्रावधानों का हवाला दिया था।

Back to top button