अम्मा की मौत पर हुआ नया खुलासा

तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता की मौत को लेकर अपोलो अस्पताल द्वारा एक बड़ा खुलासा किया गया है।

तमिलनाडु की पूर्व सीएम जयललिता की मौत को लेकर अपोलो अस्पताल द्वारा एक बड़ा खुलासा किया गया है,

इस खुलासे में अस्पताल के चेयरमैन डॉ. प्रताप सी रेड्डी ने बताया है कि जयललिता के हॉस्पिटल में एडमिट होने पर आईसीयू के सभी सीसीटीवी कैमरे बंद कर दिये गए थे.
जयललिता को दिल का दौरा पड़ने के कारण 22 सितंबर 2016 को अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

यहां इलाज के शुरू होने के बाद उनकी तबियत में कुछ सुधार भी देखा गया लेकिन 5 दिसंबर को दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई।

उनकी मौत की जांच आयोग द्वारा की जा रही है। हॉस्पिटल प्रशासन द्वारा सभी दस्तावेज आयोग को सौंप दिये गए हैं।

जयललिता इलाज के लिए 75 दिन आईसीयू में अकेली रहीं और ये सीसीटीवी कैमरे 75 दिनों तक बंद रहे। डॉ. रेड्डी का कहना है कि सीसीटीवी बंद इसलिए किये गए जिससे कि कोई भी जयललिता पर नजर ना रख सके।

इसके साथ ही डॉ. रेड्डी ने बताया कि अपोलो अस्पताल के जिस इंटेनसिव केयर यूनिट में 24 मरीजों को रखा जाता है, वहां पर जयललिता को अकेले रखा गया था। इस फ्लोर के सारे मरीजों को दूसरे फ्लोर पर शिफ्त कर दिया गया था। इस यूनिट में सिर्फ डॉक्टर्स को जाने की इजाजत थी। डॉ. रेड्डी ने बताया कि ऐसा सुरक्षा कारणों से किया जा रहा था।

advt
Back to top button