मध्यप्रदेशराज्य

मां-बाप को हज यात्रा कराने दृष्टिहीन बेटे ने पतंग बेचकर जमा की रकम

गुना जिले में एक ऐसे श्रवण कुमार भी हैं जो दोनों आँखों से देख नहीं सकते लेकिन उन्होंने पाई-पाई जोड़कर अपने बूढ़े माता पिता की हज यात्रा का सपना पूरा किया.

गुना के गुलाबगंज क्षेत्र में रहने वाले अनवर खान ने पतंग बेच बेचकर अपने माँ-बाप की हज यात्रा के लिए पैसे जुटाए. कभी 100 तो कभी 50 रुपये इकठ्ठा करते हुए अनवर ने 2 लाख रूपये इकठ्ठा किये.

पतंग बेचकर एकत्रित हुए पैसों के बारे में खुद अनवर के माता पिता को भी इल्म न था की उनका बेटा उनका सपना पूरा करेगा. पांच भाई-बहनों में तीसरे नंबर के अनवर ने मेहनत करते हुए अपने माँ बाप के सपनों को पंख लगा दिए.

पिछले 26 सालों से अनवर की आँखों की रौशनी जाती रही लेकिन उनका हौसला कभी नहीं टूटा और आखिरकार उनकी मेहनत रंग लाई.

जब इस मामले में अनवर से बात की गई तो उन्होंने बताया की बचपन में उन्होंने अमिताभ बच्चन की कुली फिल्म देखी थी. उन्होंने कहा कि उस फिल्म को देखकर वह इतने ज्यादा प्रोत्साहित हुए की उन्होंने अपने माता-पिता को भी हज यात्रा कराने का मन बना लिया.

उन्होंने बताया कि वह पिछले 20 सालों से अपने माता-पिता की गज यात्रा के लिए पैसे जोड़ रहे थे.

Tags
Back to top button