छत्तीसगढ़

एक ऐसे अधिकारी जिन्होंने शासकीय सेवा के साथ खेल को भी अनवरत महत्व दिया

अरविन्द शर्मा:

कटघोरा: हम बात कर रहे हैं एक ऐसे अधिकारी की जो प्रशानिक सेवा के साथ साथ खेल जगत में भी सदृश रुचि रखते हैं।शासकीय सेवा के दौरान जब खेल में रुचि रखने वाले अधिकारी का आगमन आमजनता के बीच होता है तो वे युवा वर्ग की पहली पसंद बन जाते हैं। ऐसे अधिकारी से युवाओं का मार्गदर्शन होता है और वे खेल जगत में बड़ी उपलब्धि हासिल करते हैं।

दरअसल हम बात कर रहे हैं तहसीलदार माननीय रोहित सिंह जी की जो कटघोरा तहसील में तहसीलदार के पद पर आसीन हैं।इन्होंने जिस तरह प्रशासनिक सेवा को महत्व दिया है ठीक उसी तरह खेल जगत में भी इनका बराबर योगदान रहा है।युवाओं के साथ सहज ही घुलमिल जाने वाले श्री सिंह जी क्रिकेट में काफी रुचि रखते हैं।कटघोरा के हाई स्कूल स्टेडियम ग्राउंड में अक्सर सुबह के वक्त इनको युवाओं के संग क्रिकेट खेलते देखा जा सकता है।जिस तरह प्रसासनिक सेवाओं के दौरान ये लापरवाही, उदंडता बर्दास्त नही करते ठीक उसी तरह खेल जगत में भी इनका सत्यनिष्ठ भाव नजर आता है और युवाओं का मार्गदर्शन कर उन्हें सही दिशा प्रदान करते हैं।क्रिकेट में युवाओं का मार्गदर्शन करने के साथ साथ उन्हें क्रिकेट खेलने के फायदे भी बताते हैं।क्रिकेट खेलने से शरीर स्वस्थ व निरोग रहता है तथा मनः स्थिति भी तरोताजा बनी रहती है।इनका युवाओं को यह संदेश भी रहता है कि युवा वर्ग समय मे पढ़ाई के करे तथा समयानुसार खेल में भी रुचि रखें ताकि शरीर का मानसिक संतुलन बना रहे।दिनचर्या समयसारिणी के अनुसार कार्य करने से युवा वर्ग गलत रास्तो पर नही भटकते और अपनी मंजिल की ओर अग्रसर रहते हैं।एक सुलझे हुए अधिकारी का खेल मैदान में युवाओं संग होना भी किसी बड़ी उपलब्धि से कम नही होता है।युवा भी ऐसे मिलनसार अधिकारी को खेल के मैदान में पाकर अत्यंत खुशी महशुस करते हैं वे खेल में अनवरत रुचि रखने लगते हैं।

श्री रोहित सिंह जी क्रिकेट के अच्छे मार्गदर्शक भी माने जाते हैं और अपनी टीम का नेतृत्व भी भलीभांति करते हैं।इनका मानना है कि खेल में हार जीत मायने नही रखती,बस खेल के दौरान खिलाड़ी में खेलने की भावना होनी चाहिए तो जीत निश्चित ही होगी।मैदान में युवाओं को खेल की परिभाषा समझाने के साथ साथ श्री सिंह जी इन्हें यह भी बताते हैं कि क्रिकेट में सभी खिलाड़ियों की भूमिका अहम होती है और जीत हासिल करने के लिए खिलाड़ियों में एकाग्रता होनी चाहिए व टीम का नेतृत्वकर्ता भी सही होना चाहिए।

कटघोरा के हाई स्कूल ग्राउंड में बीते दिनों रात्रिकालीन क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन रखा गया था जिसमे पत्रकार इलेवन व प्रशासन इलेवन के बीच सद्भावना मैच खेला गया था।यह मैच अपने आप मे काफी रोमांच से भरा था।सैकड़ो की संख्या में दर्शकगण भी मैदान में मौजूद थे।मैच में टॉस प्रशासन इलेवन ने जीता और प्रथम बल्लेबाजी प्रशासन इलेवन ने की थी।कहा जाता है कि अगर नेतृत्व करने वाला सही हो तो टीम को विजय सहर्ष ही प्राप्त हो जाती है।दूसरी बल्लेबाजी जब पत्रकार इलेवन ने की तो प्रशासन इलेवन की टीम कमजोर प्रतीत होने लगी, तो प्रथम दृष्टया नजर आने लगा कि प्रशासन इलेवन की हार निश्चित हो सकती है पर प्रशासन इलेवन का नेतृत्व श्री सिंह कर रहे थे जब इन्हें लगा कि टीम को थोड़ा व्यवस्थित करने की आवश्यकता है तो इन्होंने टीम के खिलाड़ियों की पोजिशन चेंज की और प्रशासन इलेवन की टीम ने शानदार जीत हासिल की।कहने का मतलब ये है कि अगर टीम का नेतृत्व सही ढंग से किया जाए तो जीत सुनिश्चित ही होगी।

माननीय तहसीलदार महोदय श्री रोहित सिंह जी कटघोरा के युवाओं की पहली पसंद बन चुके हैं और युवा भी खेल के मैदान में इन्हें पाकर मार्गदर्शन प्राप्त कर रहे हैं।ऐसे बहुत कम अधिकारी देखने को मिलते हैं जो सीधे तौर आमजनता के बीच अपनी छवि बनाते हैं।प्रशासनिक सेवा के दौरान ड्यूटी का फर्ज व ड्यूटी के पश्चात आमनागरिक की तरह खेल के मैदान में खिलाड़ी के तौर पर।बेहद हसमुख स्वभाव व हमेशा चेहरे पर मुस्कान के साथ नजर आने वाले श्री सिंह जी युवाओं के लिए अनमोल प्रणेता साबित हुए हैं।कटघोरा में इनकी आमद से युवावर्ग को पहचान मिली है और अब युवा वर्ग भी इनके बताए रास्तो का अनुसरण कर रहे हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button