छत्तीसगढ़

रिटायर सैनिक की कार से अज्ञात व्यक्ति की हुई थी मौत, तीसरे दिन हुई उसकी पहचान

रिटायर सैनिक की कार से जिस अज्ञात व्यक्ति की हुई थी मौत, मौत के बाद तीसरे दिन हुई उसकी पहचान,सूरजपुर जिले के ग्राम मझगवां गांव का बताया जा रहा निवासी

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बलरामपुर : बलरामपुर जिले के पुलिस चौकी वाड्रफनगर में सड़क हादसे में रिटायर सैनिक की कार से जिस अज्ञात व्यक्ति की मौत हुई थी उसकी पहचान तीसरे दिन सूरजपुर जिले के विकास खण्ड प्रतापपुर के नव निर्मित ग्राम पंचायत मझगवां निवासी 35 वर्षीय रामलाल यादव पिता शिवनारायण के रूप में हुई है दरअसल शोसल मीडिया के जरिये हादसे में मृत अज्ञात शख्स की पहचान के लिए पुलिस द्वारा आसपास के क्षेत्रों में तस्वीरे भेजी गई थी।रिटायर सैनिक की कार से अज्ञात व्यक्ति की हुई थी मौत, तीसरे दिन हुई उसकी पहचान

वहीं मृतक के परिजन लगातार खोजबीन में लगे हुए थे चूँकि मृतक घर से घटना के दो दिन पूर्व निकला हुआ था और रास्ते में अपनी बुआ के यहां एक रात गुजारने के बाद घर में बताऐ अनुसार अपने ससुराल बलरामपुर जिले के विजयनगर के लिए बस द्वारा वाड्रफनगर पहुंचा जहां से विजय नगर के लिए बस नहीं मिलने की वजह से अपने रिश्तेदार जोकि प्रेमनगर में रहते हैं वहां के लिए पैदल ही निकल पड़ा था जैसे ही वह बनारस रोड स्थित तालाब के पास पहुंचा सामने से नशे में धुत रिटायर सैनिक अपनी ब्रेजा कार से एक ट्रक को ओवरटेक करते हुए जैसे ही आगे निकलने की कोशिश की कि अचानक रामलाल को अपनी चपेट में ले लिया

यह भी पढ़ें :-दु पईडील सुपोषण बर : सुपोषित बस्तर के लिए साढ़े तीन साल के बच्चे से लेकर 74 साल के बुजुर्ग तक हुए शामिल

जिससे घटनास्थल पर ही रामलाल की मौत हो गई थी परंतु नशे में धुत रिटायर सैनिक लक्ष्मण मरावी उसके शव को कंधे पर लेकर लगभग 2 किलोमीटर पैदल चलता हुआ पुलिस चौकी वाड्रफनगर पहुंचा जिससे पूरे नगर में सनसनी फैल गई थी वही मृतक के खोजबीन के उपरांत पुलिस द्वारा सोशल मीडिया में डाले गए फुटेज परिजनों ने भी देखा और तत्काल वाड्रफनगर पुलिस चौकी पहुंच गए मृतक के शव को पुलिस के द्वारा पोस्टमार्टम के पश्चात दफना दिया गया था वही परिजनों के समझ अनुरूप शव को परिजनों के समक्ष निकाल पुलिस द्वारा परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया वही परिजनों के द्वारा शव को अंतिम संस्कार के लिए मुक्तांजलि वाहन से अपने गृह ग्राम ले गए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button