छत्तीसगढ़

निश्चेतना विज्ञान दिवस 16 को

रायपुर । 16 अक्टूबर को विश्व निश्चेतना विज्ञान दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन आपातकालीन चिकित्सा, जीवन रक्षा, कृत्रिम श्वास, गहन चिकित्सा, दर्द निवारण में निश्चेतना विशेषज्ञ की मुख्य भूमिका होती है। इसी तारतम्य में लोगों को इसके प्रति जागरूक करने अनेस्थिसियोलॉजी विभाग की ओर से बेहोश व्यक्ति की कैसे जान बचाएं यह बताया जाएगा। यह सभी जानकारी शनिवार को प्रेसवार्ता में अनेस्थिसियोलॉजी विभाग की हेड डॉ. प्रतिभा जैन शाह ने दी। उन्होंने कहा कि, कार्यक्रम 16 अक्टूबर को तेलीबांधा मरीन ड्राइव में सुबह 6 से 9 बजे तक होगा। इस दौरान व्यक्ति के दिल के धड़कन रुकने के बाद भी दिमाग 3 मिनट तक काम करता रहता है। इन बहुमूल्य 3 मिनट में उसकी जान कैसे बचाई जाएं यह डेमों के माध्यम से बताया जाएगा।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *