आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को रजिस्टर संभालने से मिलेगी मुक्ति, स्मार्टफोन पाकर आंगनवाडियां होंगी तकनीक से लैस

आईसीडीएस-केस एप्लीकेशन से आईसीडीएस सेवाओं की होगी बेहतर निगरानी 11 रजिस्टरों में से 10 रजिस्टर होंगे ऑनलाइन

सासाराम: पोषण अभियानके तहत कुपोषण मुक्त भारत के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए नित्य नए प्रयास किये जा रहे हैं. इसके लिए आंगनवाड़ीसेवाओं के उपयोग में सुधार कर आंगनवाड़ी सेवाओं की प्रदायगी की गुणवत्ता में भी सुधार करने की कोशिश जारी है. इस कड़ी में आंगनवाड़ी सेविकाओं को स्मार्टफोन प्रदान कराया जा रहा है .साथ ही आईसीडीएस सेवाओं की बेहतर निगरानी के लिएस्मार्टफोनमें आईसीडीएस-केस (कॉमनएप्लीकेशन ) एप्लीकेशनको भी इंस्टाल किया जा रहा है.

11 रजिस्टरों में 10 रजिस्टर होंगे ऑनलाइन : सहायकनिदेशकआईसीडीएसश्वेता सहाय ने बताया कि नीति आयोग द्वारा चयनित राज्य के 10 जिलों(औरंगाबाद,जमुई,शेखपुरा, नवादा, गया, मुज्ज़फरपुर, बेगूसराय,कटिहार,अररिया एवं बांका) में आंगनवाड़ी सेविकाओं को स्मार्टफोन प्रदान किया गया है जिसमें 5 जिलों (औरंगाबाद, जमुई, शेखपुरा,नवादा एवं गया) में आईसीडीएस-केस एप्लीकेशन भी इंस्टाल किया गया है एवं आगामी 15 मई तक शेष बचे 6 जिलों में भी सारे स्मार्टफोन में इस एप्लीकेशन को इंस्टाल कर दिया जाएगा.

इससे आंगनवाडीकार्यकर्ताओं को रजिस्टर संभालने से मुक्ति मिलेगी एवं कुल 11 रजिस्टरों में से 10 रजिस्टर ऑनलाइन हो जाएंगे. जिससे आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को सेवा प्रदायगी पर अधिक ध्यान देने के लिए अतिरिक्त समय भी मिल पाएगा.

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को रजिस्टर संभालने से मिलेगी मुक्ति, स्मार्टफोन पाकर आंगनवाडियां होंगी तकनीक से लैस

उन्होंने बताया कि इस एप्लीकेशन का प्रयोग राज्य के 6 जिलों में पहले से ही किया जा रहा है. जिसमें बक्सर, जहानाबाद, समस्तीपुर, भागलपुर, लखीसराय एवं सीतामढ़ी जिला शामिल है. इसके बाद राज्य के शेष अन्य जिलों में भी आंगनवाडी सेविकाओं को स्मार्टफोन प्रदान कर उसमें इस एप्लीकेशन को इंस्टाल कराया जाएगा.

एप्लीकेशन से होगी बेहतर निगरानी : आईसीडीएस-केस एप्लीकेशन से आईसीडीएस सेवाओं की ऑनलाइन एंट्री शुरू होगी जिससे प्रदान की जाने वाली सेवाओं के कुशल प्रबंधन के साथ उन सेवाओं की ब्लॉक, जिला एवं राज्य स्तर पर बेहतर निगरानी सुनिश्चित करने में आसानी होगी. इससे प्रदान की जाने वाली सेवाओं को सशक्त करने में मदद तो मिलेगी ही साथ में पोषाहारपरिणामों की रियल टाइम मॉनिटरिंगभी की जा सकेगी.

हेल्पडेस्क की सहायता से बेहतर क्रियान्वयन: आईसीडीएस-केस एप्लीकेशन को प्रभावी रूप से संचालित किये जाने के लिए राज्य, जिला एवं ब्लॉक स्तर पर हेल्पडेस्क बनाये गये हैं. जिनका मुख्य कार्य स्मार्टफोन की उपलब्धता एवं इसके रख-रखाव को सुनिश्चित करना, समस्या प्रबंधन की निगरानी के लिए इशूट्रैकर रिपोर्ट की नियमित निगरानी एवं समीक्षा करना, आईसीडीएस-केस डैशबोर्ड से डाटा समीक्षा करना एवं एप्लीकेशन इस्तेमाल को हर स्तर पर सुनिश्चित कराना है.

राज्य हेल्पडेस्क को एप्लीकेशन संचालन प्रबंधन में सहायता प्रदान करने एवं जिला हेल्पडेस्क द्वारा उठाये गए मुद्दे को इशू-ट्रैकर के माध्यम से सुलझाने के लिए मुश्किलें दूर करने वाला ( ट्रबलशूटिंगमैन्युअल) विकसित किया गया है. इससे उपयोगकर्ता का नाम, प्रबंधन एवं आंगनवाडी कार्यकर्ताओं द्वारा उनके मोबाइल पर एकत्रित किये गए रियल टाइम सूचना की रिपोर्ट उपलब्ध कराने में राज्य हेल्पडेस्क को भी सहयोग प्राप्त होगा.

Back to top button