निजी स्कूलों की मनमानी फीस वृद्धि को लेकर नाराज अभिभावक

30 अप्रैल को मौन रैली पद यात्रा निकालने का लिया निर्णय

मनमोहन पात्रे:

बिलासपुर: निजी स्कूलों की मनमानी फीस वृद्धि को लेकर नाराज अभिभावक एक्शन में आ गए हैं। शिक्षा विभाग, जिला प्रशासन और राज्य सरकार की चुप्पी के बाद शनिवार को निजी स्कूलों के पालकों ने 30 अप्रैल को मौन रैली पद यात्रा निकालने का निर्णय लिया है।

सर्व पालक संघ नें लिया मौन रैली का निर्णय:-

जानकारी के अनुसार दोपहर 1:00 बजे गांधी चौक से रैली जिला कोर्ट परिसर में समाप्त होगी रैली का मकसद न्यायालय के दरवाजे पर दस्तक देना है। कोंन्हेर गार्डन में शनिवार शाम 5:00 बजे सर्व पालक संघ के नेतृत्व में अभिभावकों की बैठक हुई।

10 से अधिक स्कूलों के पालक प्रतिनिधि भी इस बैठक में शामिल हुए थे पालकों की ओर से पवन ताम्रकर ने कहा कि जिला शिक्षा अधिकारी निजी स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई करने में पूरी तरह विफल रहे हैं, जिला प्रशासन भी इस मुद्दे पर ध्यान नहीं दे रहा है राज्य सरकार को अभिभावकों की कोई चिंता नहीं है।

लिहाजा अब न्यायालय की शरण में जाने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है। सर्वसम्मति से निर्णय हुआ है कि 30 अप्रैल को मौन रैली में अधिक से अधिक संख्या में अभिभावक तपती धूप में शामिल होंगे।

पद यात्रा के दौरान अभिभावक शांतिपूर्ण तरीके से न्यायालय परिसर में पहुंचकर न्यायाधीश के नाम ज्ञापन देंगे। इस अवसर पर ब्रिलिएंट, लोयला, सेंट जेवियर, मॉडर्न एजुकेशन आदि स्कूलों के अभिभावक भी शामिल थे।

बाल संरक्षण आयोग नें मांगा है जवाब:-

बाल संरक्षण आयोग की निगाह अभिभावक की परेशानी को लेकर छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग नें जिला शिक्षा अधिकारी और लोक शिक्षण संचनालय को नोटिस जारी कर 7 दिन में जवाब मांगा है।

अभिभावकों द्वारा सौंपे गए आठ सूत्री मांग पर अब तक क्या एक्शन लिया गया इसकी विस्तृत रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा गया है। 4 मई तक जवाब नहीं मिलने पर कार्रवाई की बात कही गई है। आयोग के सदस्य दिलीप कौशिक शिक्षा विभाग द्वारा कार्रवाई नहीं किए जाने पर नाराजगी भी जाहिर कर चुके हैं

Back to top button