धमकी से नाराज होकर IMA ने आयुष्मान भारत योजना में काम करने का बहिष्कार किया

रायपुर।

केंद्र सरकार द्वारा अभी हाल ही में लागू की गई आयुष्मान भारत योजना का आईएमए द्वारा विरोध किया जा रहा है। आइएमए ने अपने सभी सदस्यों से इस योजना में काम नहीं करने को कहा है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने अपनी सभी जिला इकाइयों से आग्रह किया है की वे अपने मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं जिलाधीश को अपने सभी सदस्यों की ओर से लिए गए निर्णय के अनुसार पत्र सौंप दें।

पत्र में इस बात का उल्लेख करें कि विलंबित मांगों पर निर्णय नहीं होने के कारण और आयुष्मान मित्रों की लॉगइन आईडी पासवर्ड ब्लॉक कर देने की धमकी से रुष्ट होकर वह सभी आयुष्मान योजना में काम नहीं कर पाएंगे। आइएमए ने कहा है कि स्थिति के सामान्य होने के बाद राज्य सरकार व स्वास्थ्य अधिकारियों के रुख को देखकर ही बातचीत शुरू की जाएगी। अभी तक सात जिला इकाइयों से पत्र सौंपे जाने की जानकारी प्राप्त हो गई है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन अपने पदाधिकारियों से निरंतर संपर्क बनाए हुए है। और किसी भी प्रकार की स्थिति का सामना करने को तैयार है। पूरे प्रदेश में 90 प्रतिशत से अधिक नर्सिंग होम्स में अपनी मांगों को लेकर आयुष्मान योजना का इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के सदस्य बहिष्कार कर रहे हैं।

गौरतलब है कि आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री मोदी की महत्वाकांक्षी योजना है जो कि विश्व की सबसे बड़ी हेल्थ केयर स्कीम कही जा रही है। इस योजना के तहत गरीब परिवार को पांच लाख रूपए तक का सुरक्षा कवर दिया जाता है। इस योजना में देश भर के लाखों निजी अस्पताल शामिल हैं।

Back to top button