बिज़नेस

अनिल अंबानी की बढ़ी मुश्किलें, बड़े भाई ने जुटाया 3000 करोड़ रुपये

सुप्रीम कोर्ट आगामी 15 दिसंबर को मामले की सुनवाई करेगा

नई दिल्ली :

अनिल अंबानी के नेतृत्व वाली रिलायंस कम्यूनिकेशंस कंपनी कई कानूनी पचड़ों में फंस चुकी है और कंपनी पर देनदारों का लगातार दबाव बना हुआ है। रिलायंस कम्यूनिकेशंस की स्थिति ये है कि कंपनी और इसकी यूनिट रिलायंस टेलीकॉम के 144 बैंक खातों में सिर्फ 19.34 करोड़ रुपए की रकम पड़ी हुई है।

इस बात का खुलासा खुद कंपनी द्वारा कोर्ट में दायर किए गए हलफनामे में किया गया है। करीब 46000 करोड़ रुपए के कर्ज के बोझ तले दबी रिलायंस कम्यूनिकेशंस का पिछले साल वायरलैस ऑपरेशन भी बंद हो चुका है, जिससे कंपनी के रेवेन्यू को तगड़ा झटका लगा है।

दरअसल अमेरिका बेस्ड कंपनी अमेरिकन टॉवर कॉर्प का रिलायंस कम्यूनिकेशंस पर करीब 230 करोड़ रुपए बकाया है। यह बकाया टॉवर लीज एग्रीमेंट और सर्विस चार्ज का है। बकाया ना मिलने पर अमेरिकी कंपनी ने फरवरी में दिल्ली हाईकोर्ट का रुख किया था।

अब रिलायंस कम्यूनिकेशंस ने हाईकोर्ट में हलफनामा दायर कर अपने बैंक खातों की जानकारी दी है। इकॉनोमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, रिलायंस ने कोर्ट में दिए अपने हलफनामे में बताया है कि उसके रिलायंस कम्यूनिकेशंस के 119 बैंक खातों में सिर्फ 17.86 करोड़ रुपए की रकम जमा है।

वहीं रिलायंस कम्यूनिकेशंस की यूनिट रिलायंस टेलीकॉम के 25 खातों में 1.48 करोड़ रुपए जमा हैं। बता दें कि स्वीडिश कंपनी एरिक्सन का भी रिलायंस कम्यूनिकेशंस पर 550 करोड़ रुपए बकाया है। ये मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है। रिलायंस ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट आगामी 15 दिसंबर को मामले की सुनवाई करेगा।

congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags