अंकित चव्हाण ने उस पर लगे बैन हटाने बीसीसीआई से की लेटर जारी करने की गुजारिश

बीसीसीआई (BCCI) ने अंकित चव्हाण, एस श्रीसंत और अजीत चंडीला पर साल 2018 में लाइफटाइम बैन लगाया था

मुंबई:मुंबई के पूर्व बायें हाथ के स्पिनर अंकित चव्हाण ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) से उन पर लगे प्रतिबंध को हटाने का पत्र जारी करने का अनुरोध किया है, जिसके बाद ही वह प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी कर पायेंगे.

साल 2013 में लगा था बैन

बीसीसीआई (BCCI) ने अंकित चव्हाण, एस श्रीसंत और अजीत चंडीला पर साल 2018 में लाइफटाइम बैन लगाया था. इन तीनों खिलाड़ियों को आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में शामिल होने के आरोप के बाद सजा दी गई थी.

सजा घटाई गई थी

साल 2020 में बीसीसीआई (BCCI) के लोकपाल न्यायमूर्ति (रिटायर्ड) डीके जैन (DK Jain) ने एस श्रीसंत और अजीत चंडीला दोनों की सजा लाइफटाइम बैन को घटाकर 7 साल कर दिया था.

अंकित को BCCI के लेटर की जरूरत

एस श्रीसंत के संबंध में आदेश की कॉपी उनके सितंबर 2020 में बैन खत्म होने से पहले ही आ गई थी लेकिन अंकित चव्हाण को 3 मई तक अपने आदेश का इंतजार करना पड़ा. लेकिन क्रिकेट में वापसी के लिए उन्हें बीसीसीआई (BCCI) से पुष्टि पत्र की जरूरत है जो उन्हें अभी तक नहीं मिला है.

अंकित ने क्या कहा?

अंकित चव्हाण (Ankeet Chavan) ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘मेरा बैन लोकपाल ने पिछले साल घटा दिया था और सजा के 7 साल भी सितंबर 2020 को खत्म हो गए थे. 3 मई को मुझे लोकपाल से एक पत्र मिला जिसे बीसीसीआई को भी भेजा गया है. यह 19 अप्रैल को हुई वर्चुअल सुनवाई के बाद था. ‘

MCA के जरिए BCCI से गुजारिश

अंकित चव्हाण ने अपने महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन से इस मामले को बीसीसीआई से उठाने को कहा क्योंकि लोकपाल के आदेश के बाद से पिछले महीने से उन्हें टॉप संस्था से कोई जवाब नहीं मिला.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button