छत्तीसगढ़

अन्ना हजारे छत्तीसगढ़ में क्या सत्याग्रह करेंगे : कांग्रेस

रायपुर: समाजसेवी अन्ना हजारे राजधानी के एक कार्यक्रम में शिरकत करने आ रहे हैं। रायपुर में उनके कदम रखने से पहले छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने उनके खिलाफ बयान जारी कर दिया। प्रवक्ता घनश्याम राजू तिवारी ने समाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के छत्तीसगढ़ आगमन पर सवाल उठाते हुए कहा कि क्या अन्ना हजारे भाजपा शासित राज्य छत्तीसगढ़ प्रदेश में व्याप्त भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी, भ्रष्ट अफसरशाही के खिलाफ अपने मूल स्वरूप को चरितार्थ करते हुये सत्याग्रह करेंगे। नागरिक आपूर्ति निगम में 35 हजार करोड़, लोकनिर्माण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग, पुष्प स्टीलस, नवभारत फ्यूल्स, मां बमलेश्वरी माईन्स, भटगांव कोल घोटाला, जैसे सैकड़ो भ्रष्टाचार के आरोप इस भाजपा सरकार पर है। अन्ना हजारे समाजिक कार्यकर्ता होने का दिखावा करते हैं। उन्होंने जिस लोकपाल बिल के नाम पर संघ-भाजपा के सहयोगी बनकर वर्ष 2013 में यूपीए सरकार के खिलाफ लोकपाल बिल की मांग को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर में लंबे दिनो तक अनशन, भूख हड़ताल किया, मांग पुरी न होने तक चुप नहीं बैठने की कसमें खाते जिसे पूरे देश ने देखा और यूपीए सरकार को कोसते रहे। देश में अराजकता की स्थिति र्निमित है। इससे न ही आज देश की सीमा पर खड़ा जवान और खेती करने वाला किसान सुरक्षित है, तो समाजिक कार्यकर्ता होने का दम भरने वाले अन्ना हजारे क्यों मौन है। जिसका जवाब उन्हें छत्तीसगढ़ की धरा पर देना होगा।

advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.