छत्तीसगढ़

रायपुर में पत्रकारों से बोले अन्ना ; पचास लोगों के संगठन से नहीं हटेगा देश का करप्शन

रायपुर: करप्शन मिटाना है तो जल्द ही किसी बड़े संगठन का निर्माण करना होगा। महज 50 लोगो के संगठन से देश व प्रदेश के करप्शन को नहीं हटाया जा सकता। जीवन में आराम करने के लिए एक बिस्तर है तो खाने का प्लेट भी है। इसलिए मैं वो अनुभव करता हूं जिसजे लखपति और करोड़पति भी अनुभव नहीं कर पाते। बुधवार को ये बातें समाजसेवी अन्ना हजारे ने कही।
दिल्ली के जंतर-मंतर धरना प्रदर्शन में लोपपाल बिल की मांग कर अनशन करने वाले समाजसेवी अन्ना हजारे बुधवार को भिलाई में भ्रष्टाचार और नशामुक्त विषय जनता को संबोधित करने पहुंचे। उन्होंने एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि बैचलर होते हुए भी 80 साल की उम्र में अबतक बेदाग हूं। करप्शन के साथ लडऩा है तो आपके भीतर शुद्ध विचारों का होना आवश्यक है। मैने एक विशाल आंदोलन किया जिससे सरकार को लोकपाल बिल कानून बनाना पड़ा, लेकिन वर्तमान में इस कानून का पालन नहीं किया जा रहा है। इसके लिए भविष्य में मैं फिर से आंदोलन करुंगा।
अन्ना हजारे ने कहा कि छत्तीसगढ़ में भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए सभी छोटे-बड़े संगठनों को एकजुट होना पड़ेगा। जिन्हें करप्शन जैसी बीमारी के लिए लडऩा होगा। करप्शन को समाप्त करने के लिए त्याग करना होगा, आचार और विचार को शुद्ध रखना होगा। वहीं सामाजिक कार्यकर्ता कुणाल शुक्ला ने 27 आईएसएस अधिकारियों की सूची अन्ना हजारे को सौंपी, जिनके ऊपर करप्शन के आरोप हैं।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *