आंदोलन करने जा रहे हैं अन्ना हजारे

दिल्ली: अन्ना हजारों ने रविवार को अपने गांव रालेगण सिद्धी में बीजेपी और मोदी के खिलाफ आंदोलन शुरू करने की घोषणा की. अन्ना हजारे ने कहा कि अपने नए टीम मेंबर्स के साथ दो दिन तक मंथन करने के बाद सशक्त लोकपाल कानून और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों, किसानों की कर्जमाफी तुरंत लागू करने सहित कई महत्वपूर्ण मुांगों को लेकर आंदोलन शुरू करने का फैसला लिया गया.

अन्ना हजारे ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री बातें तो बहुत अच्छी करते हैं, जिससे लोग उनकी बातों में आ जाते हैं और सब कुछ भूल जाते हैं.
इस आंदोलन से पहले अन्ना हजारे देश के सभी राज्यों का दौरा भी करेंगे, जहां वह जनता को इस आंदोलन के उद्देश्य के बारे में बताएंगे. अन्ना हजारे के साथ आंदोलन के मुद्दों पर विचार-मंथन के लिए उनकी टीम के नए सदस्य सभी राज्यों से रालेगण पहुंचे थे. हर टीम मेंबर ने अपने-अपने राज्य के हालात, सरकारी कामकाज तथा नेताओं के अधूरे आश्वासनों, जनता की राज्य और केंद्र सरकार के प्रति नाराजगी के कारणों को रखा. दो दिनों के मंथन के बाद आंदोलन के लिए 7 मुद्दे तय किए गए, जिन्हें पुरा करवाने के लिए अन्ना हजारे जनवरी के आखिरी सप्ताह में आंदोलन करेंगे.

1
Back to top button