छत्तीसगढ़राष्ट्रीय

अन्ना हजारे रायपुर में बोले; भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए बड़ा संगठन खड़ा करना होगा

प्रख्यात समाजसेवी अन्ना हजारे का कहना है कि भ्रष्टाचार खत्म करना है

प्रख्यात समाजसेवी अन्ना हजारे का कहना है कि भ्रष्टाचार खत्म करना है तो बड़ा संगठन खड़ा करना होगा. इतना ही नहीं भ्रष्टाचार से लड़ाई कर लड़ने वालों को आचार विचार शुद्ध रखना होगा अपना जीवन निष्कलंक रखना होगा तभी भ्रष्टाचार से लड़ाई में सफलता मिल सकेगी.

दो दिन के छत्तीसगढ़ प्रवास पर आज सुबह रायपुर पहुंचे अन्ना हजारे ने वृंदावन हॉल में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं 80 साल का हो गया हूं लेकिन मेरे ऊपर एक भी दाग नहीं है. मैं आज ना अविवाहित रहा किंतु आचरण संबंधी आरोप कभी नहीं लगा उन्होंने कहा कि कलंक और दाग लगने पर रातों की नींद छीन जाती है. जीवन में त्याग का भाव हमेशा रहना चाहिए. इससे सुख और आनंद मिलता है.

अन्ना ने अपने जीवन के बारे में बताते हुए कहा कि जब मैं 25 वर्ष का था तो मेरे मन में आत्महत्या का भाव आया. यह भाव इसलिए आया क्योंकि जीवन में करने को कुछ नहीं सोच रहा था. उसी दौरान स्वामी विवेकानंद की एक पुस्तक हाथ लगी जिसमें लिखा था कि जीवन सेवा के लिए सेवा न रहे तो जीवन का कोई अर्थ नहीं है.

इसी क्रम में अन्ना उदाहरण देते हैं- उन्होंने कहा कि- जैसे मंदिर में मूरत नहीं होने पर कोई हाथ नहीं जोड़ता है वैसे ही सेवा भावना होने पर समाज आपको नहीं पूछेगा. मूरत बिना मंदिर नहीं, सेवा बिना जीवन नहीं. निष्काम भाव से सेवा करना ही मनुष्य मात्र का धर्म है. गीता में भी यही लिखा है.

उन्होंने कहा कि मंदिर में बैठकर आधे घंटे तक राम राम कहना और बाहर आकर एक घंटे तक यह विचार करना कि लोगों की जीवन पर कब्जा कैसे किया जाए तो यह सब ठीक नहीं है.

अन्ना ने कहा कि- मैं नहीं चाहता कि लोग मेरा अनुसरण करते हुए कुंवारे रहे. युवकों को शादी करनी चाहिए, गृहस्थ जीवन बिताना चाहिए. लेकिन समाज सेवा के प्रति भी उत्सुक रहना चाहिए

भाषण के अंत में अन्ना एक बार फिर भ्रष्टाचार विषय पर आते हुए कहते हैं कि पिछले 45 साल में 6 बार लोकपाल बिल लोकसभा में रखा गया लेकिन पास नहीं हुआ. अब जाकर सरकार ने कानून बनाया है.

रायपुर एयरपोर्ट पर पत्रकारों से चर्चा के दौरान भी उन्होंने कुछ ऐसी ही बातें कही.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.