छत्तीसगढ़

धान बेचने से पहले टोकन के लिए अन्न्दाता बहा रहे पसीना

टोकन लेने के लिए किसानों को जिला सहकारी केंद्रीय बैंक द्वारा बनाई गई समितियों में लाइन लगाना पड़ रहा है।

बिलासपुर। Bilaspur News : एक दिसंबर से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी प्रारंभ हो रही है। खरीदी प्रारंभ होने से पहले राज्य शासन ने किसानों को समितियों के जरिए टोकन जारी करना प्रारंभ कर दिया है।टोकन लेने के लिए किसानों को जिला सहकारी केंद्रीय बैंक द्वारा बनाई गई समितियों में लाइन लगाना पड़ रहा है। बीते दो दिनों से जिले के किसान समितियों में नजर आ रहे हैं।

राज्य शासन के निर्देशों पर गौर करें तो किसानों को टोकन देते वक्त खरीदी की तिथि का समितियों को जिक्र करना होगा। टोकन में यह बताना होगा कि समिति किसान का धान किस तिथि में खरीदेगी। उसी तिथि में किसानों को समिति में आकर अपना धान बेचना होगा। बीते दो दिनों में जिले के 800 किसानों को समितियों के जरिए टोकन जारी किया गया है। खरीदी के दौरान कोविड-19 के प्रोटोकाल का भी पालन करना अनिवार्य किया गया है।

टोकन देते वक्त इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि खरीदी केंद्रों में किसानों की भीड़ ज्यादा ना हो। धान बेचते वक्त किसानों,हमालों और समिति प्रभारियों को एक निश्चित दूरी बनाकर रखना होगा। मास्क लगाना जस्र्री है। खरीदी केंद्रों में सैनिटाइजर की व्यवस्था भी रहेगी।

तीन अतिरिक्त खरीदी केंद्रों में भी होगी खरीदी

राज्य शासन ने एक निर्देश जारी कर मस्तूरी ब्लाक के अंतर्गत आने वाले किसानों को सुविधा देने के लिए ब्लाक में तीन अतिरिक्त खरीदी केंद्र की स्थापना की है।इन केंद्रों में एक दिसंबर से खरीदी प्रारंभ हो जाएगी। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक ने नई समितियों में कितने गांव और किसान आएंगे इसकी सूची बना ली है। सूची बनाने के साथ ही कोटवार के जरिए मुनादी कराई जा रही है। मुनादी के दौरान किसानों को बताया जा रहा है कि पुरानी के बजाय अब नई खरीदी केंद्र में धान बेचना होगा। केंद्र का नाम भी बता रहे हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button