भीड़ के बगैर होगा वार्षिक रथयात्रा उत्सव, छतों से भी रस्म देखने की अनुमति नहीं

बड़दांड में रहने वाले होटल एवं लाज को खाली किया जाएगा

पुरी:ओडिशा सरकार ने पुरी जगन्नाथ रथ यात्रा को छोड़कर पूरे ओडिशा के मंदिरों में रथ यात्रा उत्सव को रोकने का आदेश जारी किया है. वहीँ इस साल वार्षिक रथयात्रा उत्सव श्रद्धालुओं की भीड़ के बगैर ही होगा और उन्हें रथ के मार्ग में छतों से भी रस्म देखने की अनुमति नहीं होगी।

पुरी के जिलाधिकारी समर्थ वर्मा ने यहां संवाददाताओं से कहा कि प्रशासन ने अपने फैसले की समीक्षा की है और रथयात्रा का दृश्य घरों एवं होटलों की छतों से देखने पर भी पाबंदी लगा दी गयी है। उन्होंने कहा कि 12 जुलाई को होने वाले इस उत्सव से एक दिन पहले पुरी शहर में कर्फ्यू लगाया जाएगा जो अगले दिन दोपहर तक प्रभाव में रहेगा।

बड़दांड में करीबन 41 होटल एवं लाज है। निर्णय के मुताबिक रथयात्रा से दो दिन पहले से ही पर्यटकों रखने या बुकिंग ना करने के लिए कहा गया है। बड़दांड में रहने वाले होटल एवं लाज को खाली किया जाएगा। होटल एवं लाज के मालिकों के साथ बैठक कर उन्हें जागरूक किया जाएगा।

वर्मा ने कहा कि भगवान बलभद्र, देवी सुभद्रा और भगवान जगन्नाथ का यह उत्सव कोविड-19 महामारी के चलते लगातार दूसरे वर्ष बिना श्रद्धालुओं की भागीदारी के मनाया जा रहा है।
उन्होंने शहर के लोगों से टेलीविजन पर इस उत्सव का सीधा प्रसारण देखने की अपील की।

TAGS

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button