राष्ट्रीय

3 साल में 71,941 करोड़ की अघोषित आय

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय को बताया है कि आयकर विभाग (आईटी) ने पिछले तीन साल में सघन खोज, जब्ती और छापे में करीब 71,941 करोड़ रुपए की ‘अघोषित आय’ का पता लगाया है. वित्त मंत्रालय ने शीर्ष न्यायालय में एक हलफनामा दाखिल करके बताया कि पिछले वर्ष 9 नवंबर से इस वर्ष 10 जनवरी तक नोटबंदी के दौरान, ‘पता चलने वाली अघोषित आय 5,400 करोड़ से अधिक थी. साथ ही बरामद किया गया सोना 303.367 किलोग्राम था.’ इसमें एक अप्रैल 2014 से लेकर इस साल 28 फरवरी तक पता लगाई गई, अघोषित आय का पूरा ब्योरा भी दिया गया.

हलफनामे में कहा गया कि इन तीन वर्षो में आयकर विभाग ने कम से कम 2,027 समूहों में छापे मारे. इनमें 36,051 करोड़ से अधिक अघोषित आय का पता चला. इसमें 2,890 करोड़ की अघोषित संपत्ति की जब्ती भी शामिल है. वित्त मंत्रालय ने चलन से बाहर हुए 500 और 1000 के पुराने नोटों को बदलने के लिए और वक्त देने से हाल ही में इनकार किया था. मंत्रालय ने कहा था कि गृह मंत्रालय ने 11 जुलाई को अपनी एक विज्ञप्ति में कहा था कि खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के मुताबिक बंद हुए पुराने नोटों को बदलने वाले कार्यालयों का भारी दुरुपयोग हुआ है.

Back to top button