क्राइमछत्तीसगढ़

राजधानी में आज एक और चाकूबाजी की वारदात का मामला आया सामने

राजधानी में एक बार फिर से अपराधियों में पुलिस का भय खत्म

रायपुर। राजधानी में एक बार फिर से अपराधियों में पुलिस का भय खत्म हो गया है। बदमाश रोज सरेआम चाकू चलाकर लोगों की जान लेने पर आमदा हैं। रायपुर में अपराधियों को पुलिस का बिलकुल बी खौफ नहीं है। जबकि पुलिस लगातार निगरानीशुदा बदमाशों के खिलाफ अभियान चलाकर सभी को सुधरने की समझाइश दे रही है। लेकिन वो तो नशे के सुरूर में कुछ भी कही भी करने को उतारू है। वही दूसरी तरफ आपराधिक तत्व सिर्फ पंगा लेने और नशे के धुन में रोज अपराध को अंजाम दे रहा है। नशे की आड़ में मामूली विवाद पर चाकूबाजी जैसे अपराधों को अंजाम देना नशेडिय़ों के लिए मामूली बात है। नशे की लत में युवा अब पूरी तरह आपराधिक गतिविधियों में लिप्त हो चुका है। जिसके कारण राजधानी में भय और आतंक का माहौल निर्मित हो चुका है। शहर का ऐसा कोई इलाका नहीं बचा, जहां से चाकूबाजी की शिकायत रोज न आ रही हो। एक महीने के भीतर चाकूबाजी की पंद्रह से अधिक घटनाएं हो चुकी हैं। पिछले साल भी चाकूबाजों ने कई लोगों की जान गई। लोगों का कहना है कि पुलिस की धमक कम होने का फायदा बदमाश और असामाजिक तत्व उठा रहे हैं। यही वजह है कि जेब में चाकू लेकर घूम रहे बदमाश मौका मिलते ही बदला लेने के लिए खुलेआम चाकू चलाने से बाज नहीं आते हैं।

राजधानी में आज एक और चाकूबाजी की वारदात का मामला सामने आया है। दिनदहाड़े एक युवक पर दो लड़कों ने मिलकर चाकू से हमला कर दिया। युवक को आज़ाद चौक थाना लाया गया। घायल युवक राहुल कुमार ध्रुव पर रामनगर के निगरानी शुदा बदमाश चीरा और गोलू ने मिलकर चाकू से हमला किया। इस मामले में कोई आपसी विवाद नहीं था, बस युवक से आरोपियों ने कुछ पैसों की मांग की और युवक ने जब मना किया तो उस पर चाकू से वार कर दिया। पुलिस ने घायल युवक को थाना से प्राथमिक जांच के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

गैंगबाजों की आपसी लड़ाई पड़ रही भारी :

शहर में कानून व्यवस्था को ठेंगा दिखाकर सालों से सक्रिय रक्सेल गैंग, ईरानी गैंग, आसिफ गैंग, बबलू गैंग, रवि साहू, मुकेश गुप्ता गैंग के गुर्गे आतंक फैलाते आए हैं। सट्टा, जुआ, शराब समेत नशे के अन्य कारोबार में एक छत्र वर्चस्व जमाने के लिए गिरोहबाज आपस में टकराते रहे हैं। कुछ महीने पहले कालीबाड़ी, नेहरू नगर, मौदहापारा और राजा तालाब ईरानी डेरा के हिस्ट्रशीटरों के बीच वर्चस्व स्थापित करने को लेकर एक-दूसरे पर चाकू चलाने की लगातार कई वारदात हुई थी। इससे गैंगवार बढऩे की आशंका को ध्यान में रखकर पुलिस ने निगरानी बदमाशों की धरपकड़ करने ऑपरेशन थंडर चलाया था। इस अभियान का काफी हद तक असर भी हुआ। गुटों के बीच बंटे अधिकतर अपराधी पुलिस की गिरफ्त में आए और जेल भेज गए। इससे चाकूबाजी घटना बंद हो गई, लेकिन अब नए बदमाशों ने मामूली विवाद पर चाकू चलाना शुरु कर दिया है। पुलिस के लिए नए बदमाश अब सिरदर्द साबित होने लगे हैं।

20 दिनों में एक दर्जन से ज्यादा चाकूबाजी :

एक युवक को चार बदमाशों ने घेर कर पीटा और चाकू मारकर फरार हो गए। घायल अवस्था में युवक को अब अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इस घटना के शिकार हुए युवक का नाम मनीष साहू है, धरमनगर इलाके में चाकूबाजी की यह वारदात हुई। मनीष अपने साथियों के साथ पान ठेले पर खड़ा हुआ था। तभी हमलावर आए और युवक को चाकू मार दिया। पुलिस ने कालीबाड़ी इलाके के कुछ पुराने बदमाशों के घरों में दबिश दी। युवक फरार मिले। पुलिस को शक था कि इस घटना के में इलाके के हिस्ट्रीशीटर्स का हाथ होगा।

ऑपरेशन थंडर बंद, चाकूबाज बेखौफ

आपराधिक गतिविधियों पर लगाम कसने पुलिस ने कुछ महीने पहले ऑपरेशन थंडर अभियान चलाया था। इस अभियान में तीन सौ से अधिक पुराने बदमाश, वारंटियों, निगरानी, हिस्ट्रीशीटरों की धरपकड़ की गई थी। अब यह अभियान ठंडा पड़ गया है। इस वजह से बदमाश बेखौफ होकर चाकूबाजी की वारदात को अंजाम दे रहे हैं। सड़क पर उतरी पुलिस, निकाले जुलूस अपराध पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस अब सड़कों पर पूरी जवाबदेही के साथ नजर आने लगी है। यही वजह है कि शहर में चाकूबाजी कर दहशत फैलाने वाले हिस्ट्रीशीटर और बदमाशों का जुलूस निकालकर रायपुर पुलिस ने सभी अपराधियों को एक बड़ा संदेश दिया है, कि अगर शहर का अमन-चैन और आबो-हवा खराब करने की वो जुरूरत करेंगे तो उन्हें भी बख्शा नहीं जाएगा। मामूली विवाद के चलते बोरियाकला हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में हुई चाकूबाजी में बदमाश हिस्ट्रीशीटर सलमान गिट्टी और उसके साथियों ने एक युवक पर चाकुओं से जानलेवा हमला कर दिया था। जिसके सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर पंडरी बस स्टैण्ड से कोर्ट तक आरोपियों का पैदल जुलूस निकाला गया। चाकूबाजों को पकडऩे लगातार अभियान चलाया जा रहा है। नशे-सट्टे-जुए में हारे पैसे वसूलने के लिए ये लोग इस तरह के वारदात करते हैं। ऐसे आरोपियों, पुराने निगरानी बदमाश, गुंडा बदमाश उन सभी पर भी सख्ती बरती जा रही है। लगातार चेकिंग कर रहे है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button