राजधानी में हुई पीलिया से और एक मौत

रायपुर। राजधानी में अब भी पीलिया का प्रकोप जारी है वहीँ एक और युवक की मौत हो गई है । ऐसे में प्रशासन अमला व्यवस्था के नाम पर काफी सुस्त नजर आ रहा है यही वजह है कि पीलिया का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है । बता दें कि यह बीते दो महीने में पीलिया से छठवीं मौत है। प्रशासन अमला सफाई व्यवस्था में सुस्त नजर आ रहा है पाइप-लाइन बदलने में सुस्ती दिखा रहा है, इस प्रकोप का सबसे बड़ा कारण दूषित पेयजल को ही माना जा रहा है। शुद्ध पेयजल के अभाव में मृतकों की संख्या बढ़ती जा रही है। इधर, सफाई व्यवस्था भी पूर्व की तरह ही है, निगम के दावे के अनुरुप अभी तक सफाई के लिए ठोस प्रयास नजर नहीं आ रहे हैं। बता दें कि पीलिया की चपेट में आने से आमा सिवनी निवासी 35 वर्षीय महंत सोमेश दास की सोमवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। सोमेश दास का करीब एक सप्ताह से एक निजी अस्पताल में उपचार चल रहा था। इसी दौरान सोमवार को उसकी मौत हो गई। बता दे कि 27 अप्रैल को राजधानी के मोवा कांपा में पीलिया से 2 लोगों की मौत हुई थी। जिसमें एक नवविवाहिता और 35 साल का एक युवक शामिल था। इससे पहले भी मोवा क्षेत्र में पीलिया के प्रकोप से दो दर्जनभर से ज्यादा लोग गंभीर हो चुके थे जिनका इलाज अंबेडकर अस्पताल में किया गया। इसके बाद उनकी हालात में सुधार आ गया।

लोगों को किया जा रहा है जागरूक

नगर निगम आयुक्त रजत बंसल का कहना है कि राजधानी में नालियों से गुजरने वाली पाइप लाइन को हटाकर नई पाइप लाइन बिछाने का कार्य किया जा रहा है। जल्द ही राजधानी में नई पाइप लाइन से लोगों के घरों तक पेयजल की सप्लाई की जाएगी। पीलिया को लेकर नगर निगम द्वारा लगातार लोगों को जागरुक किया जा रहा है।

Back to top button