छत्तीसगढ़

बस्तर के “मां दन्तेश्वरी हर्बल समूह” की एक और गौरवशाली उपलब्धि, बढ़ा प्र्रदेश का मान

बस्तर : अपने प्रमाणित जैविक हर्बल खेती की उच्च गुणवत्ता के लिए एक और अन्तराष्ट्रीय गुणवत्ता प्रमाण पत्र ” युनाइटेड किंगडम ( इंग्लैंड) ” की गुणवत्ता प्रमाणीकरण संस्थान के द्वारा ” मां दन्तेश्वरी हर्बल” के रायपुर कार्यालय ” हर्बल इस्टेट ” में प्रदान किया गया । इसके अंतर्गत आईएसओ 22000, तथा हैसप HACCP , भी प्रदान किया गया। अंतरराष्ट्रीय जगत के ये प्रतिष्ठित गुणवत्ता प्रमाण पत्र ‘मां दंतेश्वरी हर्बल समूह’ की जैविक खेती सभी फार्म, मां दंतेश्वरी हर्बल प्रसंस्करण इकाई, एक्सट्रैक्शन यूनिट, प्रोडक्ट फार्मुलेशन, वितरण ,विपणन टिश्यू कल्चर लैबोरेटरी तथा जैविक पौध- नर्सरी को समग्र रूप से प्रदान किया गया ।

यह संपूर्ण रूप से खाद्य सुरक्षा तथा प्रबंधन की गुणवत्ता के अंतर्राष्ट्रीय मापदंडो के सफलता पूर्वक पालन हेतु दिया जाता है। मां दन्तेश्वरी समूह की ओर से इस प्रमाण पत्र को संस्था की गुणवत्ता नियंत्रण प्रमुख अपूर्वा त्रिपाठी, मनोज साहू, आदि ने ग्रहण किया । उल्लेखनीय है कि मां दंतेश्वरी हर्बल समूह विगत 20 वर्षों से जैविक पद्धति से विलुप्तप्राय दुर्लभ वनौषधियों की खेती तथा उन्हें बचाने, संरक्षण संवर्धन हेतु कार्यरत है।

वर्तमान में इस समूह के साथ 400 से अधिक आदिवासी परिवार जुड़े हुए हैं इस समूह को देश और विदेश के कई गुणवत्ता प्रमाण पत्र प्राप्त हुए हैं तथा इनके हर्बल उत्पादों को यूरोप अमेरिका सहित कई देशों में इनकी गुणवत्ता के कारण पसंद किया जाता है। हाल में ही प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम में नई दिल्ली में इस समूह को उत्कृष्टता अवार्ड 2018 अवार्ड से सम्मानित किया गया है।

Back to top button