श्री नारायणा अस्पताल को मिली “मास्टर्स इन इमरजेंसी मेडिसिन” कोर्स संचालित करने की मान्यता

एमबीबीएस या उससे ऊपर के डॉक्टर इस कोर्स में प्रवेश के लिए पात्र

रायपुर: श्री नारायणा हॉस्पिटल, देवेंद्र नगर रायपुर को एक बड़ी उपलब्धि के तहत सोसाइटी ऑफ़ इमरजेंसी मेडिसिन इंडिया द्वारा मास्टर्स इन इमरजेंसी मेडिसिन कोर्स संचालित करने की मान्यता मिल गयी है। इस विषय में अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. सुनील खेमका ने इमरजेंसी मेडिसिन की विशेषता बताते हुए कहा कि मेडिकल साइंस में इमरजेंसी मेडिसिन (आपातकालीन चिकित्सा) एक उभरता हुआ क्षेत्र है।

यह चिकित्सा विज्ञान के सभी स्पेशलिटी और सुपर स्पेशलिटी विभागों को एक छतरी के नीचे लाता है। इमरजेंसी मेडिसिन विभाग द्वारा न केवल अस्पताल में मेडिकल और सर्जिकल आपातकाल के समय चिकित्सकीय सेवा प्रदान की जाती है बल्कि आपातकालीन समय में सड़क पर, एम्बुलेंस में और अन्य कई जगहों पर भी आपातकालीन सेवा प्रदान करके और मरीज को अस्पताल में सबसे पहले अटेंड करने की वजह से इमरजेंसी मेडिसिन विभाग अस्पताल के चेहरे के रूप में कार्य करता है।

आपातकालीन चिकित्सा प्रदाता को 24 घंटे कार्य करते हुए जांचों की रिपोर्ट का इंतज़ार किये बिना और कई बार फाइनल डायग्नोसिस बनाये बिना ही उपचार शुरू करना पड़ता है जिससे की एक अनमोल जीवन को बचाया जा सके।

डॉ. खेमका ने आगे बताया कि चिकित्सकों को इमरजेंसी मेडिसिन में प्रशिक्षित करने के लिए सोसायटी ऑफ इमरजेंसी मेडिसिन इंडिया (SEMI) द्वारा मास्टर्स इन इमरजेंसी मेडिसिन (एमईएम) नाम से एक सर्टिफिकेशन ट्रेनिंग कोर्स चलाया जाता है।

एमबीबीएस या उससे अधिक योग्यता वाले ले सकते हैं इसमें प्रवेश

यह 3 साल का कोर्स है और एमबीबीएस या उससे अधिक योग्यता वाले उम्मीदवार इसमें प्रवेश ले सकते हैं। श्री नारायण अस्पताल को SEMI द्वारा वर्ष 2019 से प्रति वर्ष चार उम्मीदवारों का मास्टर्स इन इमरजेंसी मेडिसिन कोर्स में पंजीयन करने की अनुमति दी गयी है।

डॉ. खेमका ने कहा कि श्री नारायणा हॉस्पिटल में रोजाना बहुत से इमरजेंसी मरीज आते हैं और इनके माध्यम से मास्टर्स इन इमरजेंसी मेडिसिन प्रोग्राम के तहत चिकित्सकीय आपातकाल की स्थिति का कुशलतापूर्वक निदान करने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। अपेक्षाकृत सामान्य आपात स्थितियों और उपचार योग्य विकारों पर विशेष जोर दिया जाएगा।

क्लीनिकल डायग्नोसिस बनाने के लिए जरुरी क्लीनिकल स्किल्स (नैदानिक कौशल) विकसित करने के लिए अत्यंत महत्व दिया जाएगा। डॉ. खेमका ने कहा कि एमईएम कोर्स में प्रवेश लेने के इच्छुक डॉक्टर अस्पताल के इमरजेंसी मेडिसिन विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. अमितेश अग्रवाल से 8871158258 या जनरल मैनेजर अतुल सिंघानिया से 9669964400 पर संपर्क कर सकते हैं।

Back to top button