राष्ट्रीय

दुश्मन को मात देने 300 नाग एंटी टैंक मिसाइल सिस्टम को खरीदने की मिली मंज़ूरी

बैठक में पूंजी अधिग्रहण प्रस्तावों को दी गई मंजूरी

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने 3700 करोड़ रुपये के हथियारों की ख़रीद पर मुहर लगा दी है. इन हथियारों में देश में बनी एंटी टैंक नाग मिसाइलें और नौसेना के लिए युद्धपोतों पर इस्तेमाल होने वाले गन शामिल हैं. रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में रक्षा खरीद परिषद ( डीएसी ) की बैठक हुई जिसमें पूंजी अधिग्रहण प्रस्तावों को मंजूरी दी गई.

रक्षा ख़रीद परिषद ने 524 करोड़ की लागत से सेना के लिए 300 नाग एंटी टैंक मिसाइल सिस्टम को खरीदने की मंज़ूरी दी. नाग मिसाइल की खास बात ये है कि चार किलोमीटर की रेंज में दुश्मन के किसी भी टैंक को दिन और रात में बर्बाद कर सकता है. इसके साथ ही नौसेना के लिए युद्धपोतों पर तैनाती के लिए 3000 करोड़ की लागत से 127 MM कैलिबर गन की ख़रीद को भी हरी झंडी दी गई है. ये गन तैयार किए जा रहे युद्धपोतों पर तैनात किए जाएंगे.

अधिकारियों ने कहा कि नौसेना के लिए तेरह 127 एमएम कैलीबर गन खरीद को मंजूरी दी गई है. अमेरिका की बीएई सिस्टम्स से यह खरीद 3000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत में की जाएगी. वहीं रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा विकसित नाग मिसाइल प्रणाली 524 करोड़ रुपये में सेना के लिए खरीदी जाएगी.

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.