एक्वेरियम में अठखेलियां करती रंग-बिरंगी मछलियां, होती हैं सौभाग्यशाली

इस शुरूआती खर्च से स्टार्ट कर सकते है अपना बिसनेस

एक्वेरियम या फिश टैंक घर के इंटीरियर को अलग लुक देता है। लिविंग रूम में आजकल ऐसे एक्वेरियम रखे जाते हैं, जिनके निचले हिस्से में मछलियां तैरती हुई दिखाई देती हैं, तो ऊपरी सतह पर खूबसूरत पौधे तैरते हैं।

वास्तुशास्त्र की मानें तो एक्वेरियम रखने से घर धनधान्य होता है। घर के लोगों की सेहत ठीक रहती है क्योंकि मछलियों की अठखेलियां तनाव को भगाती है।

एक्वेरियम में अठखेलियां करती रंग-बिरंगी मछलियां सभी को अच्छी लगती हैं। कुछ खास रंग जैसे गोल्ड और प्रजाति जैसे मोली आदि को सौभाग्य के लिए भी रखा जाता है।

सौभाग्य की प्रतीक मानी जाने वाली गोल्ड फिश आपको दौलतमंद भी बना सकती है।

बता दें हम इससे होने वाले किसी चमत्कार की बात नहीं कर रहे बल्कि सजावटी मछलियों के कारोबार को बता रहे हैं।

क्योंकि, गोल्ड फिश और कई सजावटी मछलियों की कीमत 2500 रुपए से 28 हजार रुपए तक होती है। ऐसे में आप एक बार में महज 1 से 1.5 लाख रुपए खर्च कर हर महीने 2 लाख रुपए तक कमा सकते हैं। यदि आप करना चाहते हैं ये बिजनेस तो उठाने होंगे ये कदम…

मछलियों की लगती है बोली

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि गोल्ड एरवॉन जैसी सजावटी मछलियों की तो लोग बोली लगाते हैं। बड़े-बड़े शहरों में बोली में इसकी कीमत 50 हजार रुपए से भी उपर चली जाती है।

यही नहीं, एक बार आप अच्छी मछलियों का उत्पादन करने लगे तो आपके पास विदेशों से भी आर्डर आने लगेंगे।

इसके लिए आपको वेबसाइट या किसी अन्य ऑनलाइन प्लेटफार्म पर अपना प्रचार करना होगा। इन दिनों सजावटी मछलियों का ऑनलाइन बाजार भी बहुत बड़ा है।

1 से 1.5 लाख रुपए है शुरूआती खर्च

सजावटी मछलियों की फार्मिंग और इसके बिजनेस के लिए शुरआत में आपको एक से डेढ़ लाख रुपए खर्च करने होते हैं।

इसमें लगभग 50 हजार रुपए 100 वर्गफुट के एक्वेरियम पर खर्च करने होंगे और लगभग इतने ही अन्य सामान के लिए।

इसके अलावा कुछ मुख्य प्रजातियों के मछली सीड 100 रुपए से 500 प्रति पीस होता है। सीड आप अपनी जरूरत के हिसाब से खरीद सकते हैं। इसके लिए फीमेल और मेल का अनुपात 4:1 रखना होता है।

अलग-अलग जगहों से आता है सीड

दुनिया भर में लगभग 600 प्रकार की सजावटी मछलियां पाई जाती हैं। इनमें से 200 से अधिक भारत में भी मिलती हैं। लेकिन, इसमें से कुछ चुनिंदा प्रजातियां ही हैं जिनके दाम हजारों में होते हैं।

इनमें गोल्डन एरवॉन, चाईनीज फ्लॉवर हॉर्न, इंडियन फ्लॉवर हॉर्न, डिस्कन और पेस्ट फिश आदि मुख्य हैं। इनके लिए सीड चेन्नई, कोलकाता, चीन और हांगकांग से मंगाए जाते हैं।

जो भारत में भी विभिन्न डीलरों के माध्यम से उपलब्ध हो जाते हैं। इन मछलियों के दाम ही 2500 रुपए से 28000 रुपए तक होती है। इनमें से महंगी गोल्डन एरवॉन होती है, जो 28 हजार रुपए से भी महंगी होती है।

1
Back to top button