टेक्नोलॉजी

घर में मौजूद गैजेट्स कहीं आपकी जासूसी तो नहीं कर रहे?

नई दिल्ली: एडवांस होती टेक्नॉलोजी ने हमारे कई काम आसान बना दिए हैं. खासतौर से वो काम जिसमें आप इंटरनेट की मदद से घर में लगे डिवाइसेज को भी ऑपरेट कर सकते हैं. सिर्फ टीवी और म्यूजिक सिस्टम ही नहीं अब तो आप टोस्टर, वैक्यूम क्लीनर जैसी चीजें भी इंटरनेट के जरिए ऑपरेट हो रही हैं.

लेकिन आपके घर में लगे ये स्मार्ट डिवाइस कहीं आपकी जासूसी तो नहीं कर रहे. कुछ दिन पहले विकीलीक्स ने खुलासा किया कि अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने स्मार्ट टीवी के जरिए जासूसी की है.

जिसके लिए उन्होंने spyware का इस्तेमाल किया था. ये एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जिसके जरिए आपकी जानकारी के बगैर टीवी को ऑपरेट किया जा सकता है और उससे आपकी गतिविधियों पर नजर रखी जा सकती है. इसका उपयोग सिर्फ खुफिया एजेंसी ही नहीं बल्कि हैकर्स भी कर रहे हैं.

स्मार्ट डिवाइसेज यानि खतरे की घंटी

स्मार्ट डिवाइसेज से हैकर्स आसानी से आपकी जिंदगी में घुसपैठ कर सकते हैं. आपकी प्राइवेसी में सेंधमारी करते हुए आपसे जुड़ी जानकारी तो निकाल सकते ही हैं, साथ ही लैपटॉप, कार, टीवी आदि में लगे कैमरे से आपकी तस्वीर या वीडियो तक रिकॉर्ड कर सकते हैं.

स्मार्ट गैजेट्स में में आमतौर पर सेंसर्स, स्विचेज और लॉगिंग की सुविधा होती है, जिससे आपके पर्सनल अकाउंट अटैच होते हैं. ये डिवाइस डेटा कलेक्टर कर संबंधित कंपनी को भेजते हैं, जिसमें हैकर्स आसानी से सेंध मार सकते हैं.

इतना ही नहीं इस डेटा कोडिंग और इंटरनेट के जरिए वे आसानी से आपके इन स्मार्ट गैजेट्स तक पहुंच बना सकते हैं. और अगर ऐसा हुआ तो आपके पास प्राइवेसी जैसा कुछ भी नहीं रह जाएगा.

वेब कैम पर न करें भरोसा

वेब कैम के जरिए आप भी यदि वीडियो चैट करते हैं या न भी करते हों तो सावधान हो जाइए. ऐसा इसलिए क्योंकि वायरस के जरिए लैपटॉप में घुसकर हैकर्स आसानी से आपके वेब कैम तक पहुंच जाते हैं.

ऐसा होने पर आप घर में कब क्या कर रहे हैं इसे वे लाइव देख सकते हैं. इतना ही नहीं इस कैम के जरिए वे जब चाहें आपकी वीडियो या फोटो ले सकते हैं.

एक हॉलीवुड एक्ट्रेस भी ऐसे ही हादसे का शिकार हो चुकी हैं. जिसमें हैकर ने वेब कैम के जरिए उनकी न्यूड तस्वीरें खींच लीं, जिनके दम पर ब्लैकमेल कर एक्ट्रेस से भारी भरकम राशि मांगी गई.

आपकी जानकारी नहीं है प्राइवेट

स्मार्ट टीवी हो या अन्य स्मार्ट गैजेट इसमें हम अकाउंट बनाते हुए निजी जानकारी डालते हैं. इतना ही नहीं स्मार्ट टीवी पर तो हम अपने प्राइवेट मेल तक ओपन कर लेते हैं, लेकिन ऐसा करना खतरे से खाली नहीं है.

ऐसा इसलिए क्योंकि इंटरनेट के जरिए ये डेटा न सिर्फ कंपनी तक पहुंच रहा है बल्कि ये उस हैकर तक भी पहुंच सकता है जिसने आपने स्मार्ट डिवाइस तक पहुंच बना ली है.

ऐसा होने पर आपके बैंक अकाउंट से लेकर सोशल मीडिया अकाउंट तक हैकर्स के कंट्रोल में पहुंच जाएंगे, जो बड़ी मुसीबत बन सकता है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
घर में मौजूद गैजेट्स
Author Rating
51star1star1star1star1star

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *