हथियारबंद समूहों ने वेनेजुएला की संसद पर किया हमला

वेनेजुएला में सांसदों और बोलिवेरियन नेशनल गार्ड (जीएनबी) की सैन्य पुलिस के बीच झड़प के बाद सशस्त्र नागरिक समूहों ने संसद पर हमला कर दिया. एफे न्यूज के मुताबिक विपक्षी सांसद जुलियो बोर्जेस बताया कि मंगलवार को हुई झड़प में दो महिला सांसद घायल हो गईं. नेशनल एसेम्बली के ट्विटर अकाउंट के अनुसार विपक्षी सांसद डेल्सा सोलोरजानो और कई पत्रकार भी घायल हुए हैं. इसके अलावा वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो ने कहा कि वेनेजुएला के सुप्रीम कोर्ट पर हेलीकॉप्टर से हमला किया गया और यह उनकी समाजवादी सरकार को अस्थिर करने की एक साजिश है.

बोर्जेस ने कहा, ‘विभिन्न सांसदों और विधायिका कर्मचारियों ने देखा कि जीएनबी के अधिकारी भवन में राष्ट्रीय चुनाव आयोग की मतपेटियों के साथ प्रवेश कर रहे हैं. इसी बीच जीएनबी अधिकारयिों और सांसदों को बीच झड़प होने लगी.’ झड़प के कारण संसद सत्र बाधित हो गया. संघर्ष के समाधान के लिए बोर्जेस ने संस्था की सुरक्षा के जिम्मेदार अधिकारी से बात की, लेकिन इसी बीच नागरिकों के सशस्त्र समूह ने नेशनल एसेम्बली की इमारत में प्रवेश कर लिया.

सोशल मीडिया पर जारी कुछ वीडियो में ये लोग सदन के अंदर रॉकेट छोड़ते और पटाखे जलाते नजर आ रहे हैं. बोर्जेस ने हमले के लिए राष्ट्रपति निकोलस मडुरो को जिममेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि निकोलस मादुरो ने आज कहा था कि अगर मतपत्र का इस्तेमाल नहीं हुआ, तो फिर हिंसा होगी. अगर बैलट इस्तेमाल में नहीं लाए गए, तो फिर बुलेट (गोली) इस्तेमाल में लाए जाएंगे.

आजाद देश के लिए लड़ाई जारी रखने की और ताकत देगा

बोर्जेस ने कहा कि यह हमला सांसदों को लोकतंत्र और आजाद देश के लिए लड़ाई जारी रखने की और ताकत देगा. उन्होंने बताया कि जीएनबी बलों ने सांसदों को मतपेटियों के पास नहीं पहुंचने दिया और कहा कि इन पोटियों में राजनतिक दलों के सत्यापन संबंधी जानकारी हैं. वेनेजुएला पिछले तीन महीने से राजनीतिक सामाजिक उथल-पुथल का सामना कर रहा है. इस बीच सरकार के पक्ष में और विपक्ष में कई बड़े प्रदर्शन हुए हैं. वेनेजुएला के महाभियोजक कार्यालय के मुताबिक कई स्थानों पर प्रदर्शनों के हिंसक हो जाने की वजह से 75 लोगों की मौत हुई है, जबकि करीब 1,500 घायल हुए हैं.

Back to top button