सेना प्रमुख रावत का पाक और चीन पर निशाना, बोले- बांग्लादेश से हो रही घुसपैठ के पीछे पड़ोसी देश की नीति जिम्मेदार

पूर्वोत्तर में बांग्लादेशियों की अवैध घुसपैठ पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान और चीन पर निशाना साधा है.

नई दिल्ली:

पूर्वोत्तर में बांग्लादेशियों की अवैध घुसपैठ पर सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पाकिस्तान और चीन पर निशाना साधा है. जनरल रावत ने कहा है कि उत्तर पूर्व में बांग्लादेश से हो रही घुसपैठ के पीछे हमारे पश्चिमी पड़ोसी की छद्म नीति ज़िम्मेदार है.

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

जनरल रावत ने कहा है कि इस काम में हमारे पश्चिमी पड़ोसी को उत्तरी पड़ोसी का साथ मिल रहा है.जनरल रावत उत्तर-पूर्व में भारत की रक्षा चुनौतियों पर आयोजित एक सेमिनार में बोल रहे थे.

उत्तर पूर्वी राज्यों में बांग्लादेश से होने वाली घुसपैठ और इलाके में हुए जनसांख्यिकीय परिवर्तन को दर्शाने के लिए जनरल रावत ने बदरुद्दीन अजमल की पार्टी एआईयूडीएफ का उदाहरण दिया. जनरल रावत ने कहा कि देश में जनसंघ का विस्तार उतनी तेज़ गति से नहीं हुआ, जितनी तेज़ गति से असम में एआईयूडीएफ का विस्तार हुआ है.

उन्होंने कहा है कि उत्तर पूर्व की समस्याओं का समाधान वहां के लोगों को देश की मुख्यधारा में लाकर विकास करने से मुमकिन है. सेमिनार में आए रक्षा विशेषज्ञों ने कहा कि उत्तर पूर्व को सुनियोजित तरीक़े से इस्लामिक बाहुल्य वाला क्षेत्र बनाने की कोशिशें हुई हैं.

पूर्वोत्तर से देश के संपर्क मार्ग यानी सिलीगुड़ी कॉरिडोर पर नौसेना प्रमुख ने कहा कि चीन से मतभेदों के बावजूद अनेक दशकों से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शान्ति बरकरार रही है.

हालांकि, चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी द्वारा सीमा का अतिक्रमण करने की बढ़ती घटनाएं और डोकलाम में हालिया गतिरोध चीन की बढ़ती मुखरता का प्रतीक है, क्योंकि वह आर्थिक और सैन्य मोर्चों पर प्रगति कर रहा है. यह घटनाएं सिलीगुड़ी कॉरिडोर की संवेदनशीलता की ओर इशारा करती हैं.

सिलीगुड़ी कॉरिडोर या चिकन-नेक वह संकीर्ण भूभाग है जो पूर्वोत्तर के राज्यों को शेष भारत से जोड़ता है.

new jindal advt tree advt
Back to top button