छत्तीसगढ़

व्यवस्था के शिक्षक अपने मूल शाला में लौटेंगे

- राजशेखर नायर

नगरी: छ ग प नगरीय निकाय शिक्षक संघ 5093 ब्लाक शाखा नगरी के ब्लाक अध्यक्ष शैलेन्द्र कौशल ने शैक्षणिक व्यवस्था एवम एकल शाला के नाम पर ब्लाक के प्राथमिक/माध्यमिक/हाई स्कूलों के शिक्षकों को उनके मूल शाला में वापसी का जिला शिक्षा अधिकारी के आदेश का स्वागत करते हुए बताया कि धमतरी जिले के एकमात्र आदिवासी विकासखंड के अधिकांश दुर्गम वन क्षेत्र में फैले हुए है, जंहा शिक्षकों की ज्यादा जरूरत है, मगर वनांचल के शिक्षकों को नियम विरुद्ध मनमाने तरीके से शैक्षणिक व्यवस्था के नाम पर अन्य विकासखंड में भेज दिया गया है.

जिसके कारण वनांचल के इन स्कूलों में पढ़ाई प्रभावित हो रही है एवम लगातार परीक्षाफल में गिरावट आ रही है इसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी प्रशासन की है जो शिक्षकों की कमी होते हुए भी यंहा के शिक्षकों को दूसरे विकासखंड में भेज रही है और नगरी से वेतन भुगतान किया जा रहा है।

इसी प्रकार ब्लाक स्तर पर भी अनेकों शाला के शिक्षकों को दूसरे स्कूल में व्यवस्था कर दिया गया है। कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी के पत्र क्रमांक/4049/धमतरी दिनांक 07.05.2019 के द्वारा एवम विकासखंड शिक्षा अधिकारी नगरी के द्वारा पत्र क्रमांक/151/नगरी दिनांक 09.05.2019को ब्लाक के सभी प्राचार्य/प्रधान पाठकों को संलग्न शिक्षकों को उनके मूल शाला में 3 दिवस के भीतर कार्यमुक्त करने का पत्र जारी किया गया है जो स्वागत योग्य है।

छ ग प न नि शिक्षक संघ 5093 ब्लाक शाखा नगरी के ब्लाक अध्यक्ष ने बिना भेदभाव पारदर्शिता के साथ इस कार्यवाही को अमल में लाने की मांग की है ताकि स्कूलों में शिक्षकों की कमी से जूझ रहे ब्लाक के स्कूलों को शिक्षकों की पूर्ति किया जा सके।केवल कागजी खानापूर्ति होने पर संघ के द्वारा आगामी दिनों में धरना प्रदर्शन भी किया जावेगा.

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: