पांच जघन्य हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार

पांच जघन्य हत्याकांड का आरोपी गिरफ्तार

रायपुर । धमतरी जिले में अंधे कत्ल की दो वारदातों में पांच हत्याओं के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी ने शराब के नशे में अपनी शारीरिक जरुरतों को पूरा करने के लिए दोनों वारदातों को अंजाम दिया। रायपुर रेंज पुलिस महानिरीक्षक प्रदीप गुप्ता ने कहा कि आरोपी जितेन्द्र ध्रुव (30) निवासी ग्राम तेलीन सत्ती जिला धमतरी को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी को न्यायालय में पेश किया जा रहा है।
आईजी गुप्ता ने कहा कि धमतरी पुलिस को पुराने मामलों की पड़ताल में दो घटनाओं में समानताएं दिखीं। इसके बाद मामले की अलग एंगल में तफ्तीश की गई। जिसमें आरोपी जितेन्द्र जो मूलत: बालोद जिले का रहने वाला है को गिरफ्तार किया गया।

यह थी अंधे कत्ल की ये दोनों वारदातें : पहली वारदात ग्राम खपरी में 18 अगस्त 2016 की है। आरोपी घर में खिड़की के रास्ते अंदर घुसा। वहां घर में रखे फावड़े से महिला और उसकी बेटी के सिर पर जानलेवा हमला किया। महिला की हत्या की और बेटी के साथ दुष्कर्म किया। फिर उसकी भी हत्या की। इसके बाद घर में रखे जेवरात भी चोरी किए। आरोपी जितेन्द्र ने पुलिस को गुमराह करने के लिए घटनास्थल पर रखी वस्तुओं को भी इधर उधर किया था। मामले में अर्जुनी थाना में धारा 450, 302 के तहत अपराध कायम है।

एक अन्य दिल दहला देने वाली वारदात अर्जुनी थाना इलाके में 13 जुलाई 2017 को ग्राम तेलीनसत्ती की है। इस वारदात में आरोपी घर में छज्जे के सहारे आया और दरवाजे की सिटकिनी तोड़कर घर के अंदर घुसा। अंदर घुसते ही आवाज हो जाने के कारण पकड़ा गया। इस दौरान उसने पति-पत्नी और उनके एक बेटे की हत्या की। वहीं इसमें एक अन्य बालक गंभीर रूप से घायल था जो बच गया था। आरोपी ने महिला के साथ दुष्कर्म भी किया। इस मामले में अर्जुनी थाना में धारा 450, 302, 307, 380 के तहत अपराध कायम है।

धमतरी जिला पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह ने कहा कि आरोपी ने दुष्कर्म की बात कही है इस पर भी विवेचना की जा रही है।

पुराने मामलों की पड़ताल में मिला सुराग : धमतरी जिले के नए पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह ने प्रभार लेने के बाद जिले के पुराने बड़े मामलों में पड़ताल शुरु की। भले ही इन दोनों मामलों में 1 वर्ष का अंतराल रहा लेकिन पुलिस को दोनों घटनाओं में कुछ समानताएं नजर आईं। इन समानताओं ने ही पुलिस को सोचने पर मजबूर किया। एसपी ने दोनों मामलों की पड़ताल के लिए एक टीम का गठन किया।

जिला पुलिस और क्राइम ब्रांच ने दोनों घटना स्थलों की जांच की। टीम ने ऐसे लोग छांटे जिनकी उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच की थी। दोनों घटना स्थलों में दूरी ज्यादा नहीं होने से आस पास के रहवासी की संलिप्तता की आशंका पुलिस को थी। पुलिस को ऐसे आदमी की तलाश थी जिसकी प्रवृत्ति दोनों घटना स्थल के आसपास सामान्य ना हो। या नशे का आदि हो, मारपीट की प्रवृत्ति का हो। पुलिस ने ऐसे 30-35 लोगों को टारगेट किया। इन लोगों को संदेही मानते हुए सभी के दोस्तों और रिश्तेदारों से गोपनीय तौर पर जानकारी ली गई।

इस बीच पुलिस को जानकारी मिली की जितेन्द्र ध्रुव निवासी तेलीनसत्ती ने कुछ दिनों पूर्व सोने चांदी के जेवरात धमतरी में एक ज्वेलर्स के पास बेचे हैं। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया और कड़ाई से पूछताछ की गई। पूछताछ में आरोपी जितेन्द्र ने दोनों वारदातों में पांच लोगों की हत्या की बात स्वीकार की। उसने पुलिस को बताया कि शराब पीकर वारदात को अंजाम दिया ताकि कोई तकलीफ न हो।

आपराधिक प्रवृत्ति : आईजी गुप्ता ने कहा कि आरोपी बचपन से साईनगर भोपाल थाना हबीबगंज इलाके में रहता था। इसके पिता कुली मजदूरी का काम करते थे। आरोपी थाना हबीबगंज के 4 प्रकरण जिसमें चोरी और मारपीट के मामले में जेल की सजा काट चुका है।

advt
Back to top button