छत्तीसगढ़

कुलदीप की हत्या का आरोपी गिरफ्तार

भिलाई । न्यू सिविक सेंटर स्थित शिवा कोचिंग सेंटर की मैनेजर कुलदीप कौर की मर्डर मिस्ट्री का खुलासा सोमवार शाम आईजी दुर्ग रेंज दीपांशु काबरा ने किया। उन्होंने कहा कि,कुलदीप की हत्या अवैध संबंध के चलते गत 14 अक्टूबर को की गई। आरोपी मनीष ने कुलदीप से पीछा छुड़ाने के लिए गला घोंटकर हत्या की थी। मोबाइल और सीसीटीवी फ़ुटेज की जांच ने पुलिस को आरोपी तक पहुंचाया। पुलिस ने आरोपी को अंबिकापुर से गिरफ्तार किया। वहीं कुलदीप की कार भी अंबिकापुर से बरामद की गई। आरोपी फिलहाल पुलिस की गिरफ्त में है।

कुलदीप को रास्ते से हटाने की थी योजना : आईजी ने कहा कि, आरोपी मनीष यादव (21) और मृतका कुलदीप कौर के मध्य अवैध संबंध थे। आरोपी बीकॉम की पढ़ाई करने भिलाई आया था। वह मृतका की कोचिंग में काम करता था। इस दौरान उनकी नजदीकियां बढ़ी। दो साल पहले आरोपी मनीष अंबिकापुर चले गया था। कुलदीप संबंध बनाए रखने के लिए दबाव बना रही थी। कुलदीप अक्सर आरोपी मनीष को मिलने की जिद करती थी, लेकिन मनीष के नहीं आने पर कुलदीप उसे फंसा देने की धमकी देती थी। इसे लेकर मनीष कुलदीप से पीछा छुड़ाना चाहता था। वहीं आरोपी मनीष दूरियां चाहता था। मनीष की शादी भी होने वाली है। घटना के दिन प्लानिंग कर मनीष भिलाई आया था। पूर्व योजना के अनुसार उसने कुलदीप के दुपट्टे से ही उसका गला घोंटकर मार डाला। आरोपी ने लाश उतई और नेवई थाना के सीमा क्षेत्र में नहर के किनारे फेंकी थी और कार लेकर बेमेतरा के रास्ते अंबिकापुर पहुंचा। कार का कलर भी उसने बदलवा लिया। अब पुलिस कार को कलर बदलने वाले पेंटर से की भी बयान लेगी।

मोबाइल ने पहुंचाया कातिल तक : कुलदीप के गायब होने और उसका मोबाइल मिलने की अवधि के दौरान का मोबाइल टॉवर डंप रिकॉर्ड किया गया। पहले जेवरा सिरसा जहां मोबाइल मिला, क्षेत्र के रिकॉर्ड खंगाले गए। इसके बाद उतई जहां कुलदीप की लाश मिली, टीडीआर किया गया। पुलिस को पूरी उम्मीद थी कि, वे टॉवर डंप रिकॉर्ड के जरिए कड़ी जोड़ते हुए हत्यारे तक पहुंच सकती हैं और पुलिस ने इसी पर वर्क किया। दीपावली होने के कारण पुलिस को सभी मोबाइल कंपनियों का लोकेशन मिलने और डिटेल मिलने में देरी हुई, नहीं तो पुलिस इस मर्डर मिस्ट्री का खुलासा शायद पहले ही कर देती। टावर डंप के दौरान पुलिस को एक करीबी पर शक हुआ और आगे की जांच में पुलिस का यह अनुमान सही होते जा रहा था ।

ये है घटनाक्रम : 14 अक्टूबर को दोपहर बाद करीब 3.30 बजे कुलदीप कार में न्यू सिविक सेंटर स्थित अपने कोचिंग सेंटर से ब्यूटी पॉर्लर जाने के लिए निकली थी। इसके बाद वह गायब हो गई। उसी दिन शाम को करीब 6 बजे उसका मोबाइल जेवरा सिरसा में बीच सड़क पर मिला था। अगले दिन 15 अक्टूबर की सुबह 8 बजे उसकी लाश मिली। कुलदीप की गला घोंटकर हत्या की गई थी। हत्या के दसवें दिन पुलिस को कुलदीप की कार मिली।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.