छत्तीसगढ़

पिस्टल से फायर कर लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाला फरार आरोपी गिरफ्तार

थाना न्यू राजेन्द्र नगर क्षेत्र में दिनांक 14.12.2018 एवं थाना डी.डी.नगर क्षेत्र में दिनांक 01.02.219 को दिये थे घटना को अंजाम।

घटना को अंजाम देने रेकी कर तैयार करते थे पूरी योजना।प्रकरण में पूर्व में आरोपी देवी प्रसाद बसोर एवं मनीष बसोर को किया जा चुका है गिरफ्तार।

आरोपी देवी प्रसाद बसोर एवं मनीष बसोर का संपर्क था उ.प्र. के गिरोह के आरोपी जावेद अहमद से।

आरोपी जावेद अहमद के विरूद्ध थाना मान्धाता में हत्या का प्रयास, लूट एवं चोरी के कुल 16 मामले है दर्ज, जिनमें आरोपी रह चुका है जेल निरूद्ध।

आरोपी थाना मान्धाता क्षेत्र का है हिस्ट्रीशीटर/गैंगस्टर।

आरोपी ने दुर्ग जिले में भी लूट की घटना को भी अपने साथियों के साथ मिलकर दिया था अंजाम जिसमें चल रहा था फरार।

आरोपी के गिरोह के अन्य सदस्यों की, की जा रही है तलाश।

आरोपी से 01 नग कट्टा एवं 02 नग राउण्ड किया गया है जप्त।

आरोपी दुर्ग जिले में घटित लूट के मामले में भी था फरार।

आरोपी के विरूद्ध थाना डी.डी.नगर में अपराध क्रमांक 33/19 धारा 394, 397, 307 ता.हि. एवं 25, 27 आम्र्स एक्ट तथा थाना न्यू राजेन्द्र नगर में अपराध क्रमांक 314/18 धारा 392, 34 भादवि. सहित जिले दुर्ग में भी है अपराध पंजीबद्ध।

विवरणः- 01. प्रार्थी संजय सोनी उर्फ मोहित पिता जसराज सोनी उम्र 22 साल साकिन लाखे नगर सांई मंदिर चैक गोवर्धन शर्मा ने थाना डी डी नगर मंे रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह पार्षद गली पुरानीबस्ती रायपुर में अपने परिवार के साथ रहता है। प्रार्थी के पिता श्री जसराज सोनी का विजय चैक चंगोराभाठा में श्री सांई नाथ ज्वेलर्स के नाम से सोने चांदी का दुकान है जहां प्रार्थी के पिता के अलावा प्रार्थी भी दुकान में बैठता है। रोज की तरह दिनांक 01.02.19 के करीबन रात्रि 08.30 बजे प्रार्थी और उसके पिता ज्वेलरी दुकान को बंद कर दुकान की सोने चांदी की ज्वेलर्स को अलग- अलग 03 थैले में रखकर ज्वेलरी के डिब्बा सहित प्रार्थी एक्सेस मोपेड मंे एक थैला तथा प्रार्थी के पिता अपनी एक्टीवा के सामने 02 थैला रखकर अपने घर लाखे नगर जाने के लिए एक साथ आ रहे थे कि वसुन्धरा नगर गली जहां तिरंगे झण्डा का चबुतरा बना है वहां पीछे से एक बाईक में सवार 03 अज्ञात लडके प्रार्थी के पिता जो आगे थे बाईक को बढाकर उनकी एक्टीवा के सामने मो.सा. अडाकर तीनो बाईक सवार उतरकर प्रार्थी के पिता के एक्टीवा मंे रखें थैले को लूटने लगे तब प्रार्थी अपनी मोपेड को रोककर अपने पिता को बचाने गया तब तीनों मिलकर प्रार्थी के पिता एवं प्रार्थी को पहले हाथ मुक्का से मारपीट करने लगे दोनो जब बचाव करने लगे तब तीनांे अपने पास रखे पिस्टल जैसे हथियार को निकालकर हमारे सोने चांदी के जेवर को लूटने के लिये जान से मारने की नियत से प्रार्थी के पिता के सीने मे फायर किये जो सीने मे गोली लगने से गिर गये और जब प्रार्थी विरोध किया तब प्रार्थी के उपर भी गोली फायर किये जो प्रार्थी को नहीं लगा तब उसमंे से एक लड़के द्वारा अपने हथियार के बट से प्रार्थी के सिर के पीछे मारा जिससे प्रार्थी भी गिर गया तब बाईक सवार तीनों लडके वाहनों में रखें सोने चांदी के थैला को लेकर रायपुरा चैक तरफ भाग गये उस समय पुरा रोड सुना था। प्रार्थी अपने पिता जी को लेकर पास के अस्पताल ओम हास्पीटल में अपने पिता एवं स्वतः का ईलाज के लिये आया। जिस पर अज्ञात आरोपियों के विरूद्ध थाना डी.डी.नगर में अपराध क्रमांक 33/19 धारा 394, 397, 307 ता.हि. एवं 25, 27 आम्र्स एक्ट का अपराध कायम किया गया।

विवरणः- 02. प्रार्थी अनिल सोनी पिता परमानंद सोनी राजेन्द्र नगर रायपुर ने थाना न्यू राजेन्द्र नगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह अपने परिवार के साथ न्यू राजेन्द्र नगर में रहता है तथा अमलीडीह रोड में प्रार्थी को राधिका ज्वेलर्स के नाम से दुकान है। दिनांक 14.12.2018 की रात्रि करीब 09.50 बजे प्रार्थी अपनी दुकान बंद कर काउन्टर में रखें सोने व चांदी के गहनो को अपने पिठ्ठू बैग में रखकर अपने घर जाने के लिये स्कुटी से केनाल रोड की तरफ जा रहा था कि तीन लडके मोटर सायकल में पीछे से अटैक कर प्रार्थी को गोली मारने की धमकी देकर पिस्तौल अडाकर मोटर सायकल के पीछे बैठे लडके ने प्रार्थी के बैग को छीन लिया और तीनों चर्च की ओर भाग गये। प्रार्थी के बैंग में रखें सोने के गहने 300 ग्राम करीब और चांदी के गहने 06 किलो करीब लगभग कुल किमती 09 लाख रूपये को बैग सहित तीनों लडके लूट कर ले गये। जिस पर थाना न्यू राजेन्द्र नगर में अपराध क्रमांक 314/18 धारा 392, 34 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

पुलिस महानिरीक्षक, रायपुर रेंज रायपुर एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, महोदय रायपुर के निर्देशन में अज्ञात आरोपियांे की पतासाजी हेतु एक विशेष टीम का गठन किया गया। टीम द्वारा घटना स्थलों का बारिकी से निरीक्षण किया जाकर प्रार्थियों से घटना व आरोपियों के हुलियों एवं उनके द्वारा प्रयुक्त की गई वाहनों के संबंध में विस्तृत पूछताछ की गई। घटना स्थल व उसके आसपास लगे सैकडों सी.सी.टी.व्ही़. फुटेजों को खंगलाने के साथ- साथ आरोपियों के संबंध में तकनीकी विश्लेषण किया गया एवं प्रकरणों में मुखबीर भी लगाये गये। चूंकि दोनों घटनायें एक ही प्रकार से घटित की गई थी तथा घटना के तरीका वारदात के आधार पर किसी बाहरी गिरोह द्वारा घटनाआंे को अंजाम देना प्रतीत हो रहा था। जिस पर टीम द्वारा अंतर्राज्यीय गिरोहों एवं आरोपियों के संबंध में भी जानकारी एकत्रित की जा रही थी। टीम द्वारा हाल ही में जेल से छूटे इस तरह के अपराध कारित करने वाले आरोपियों के संबंध में भी जानकारियां एकत्र की इनकी गतिविधियों पर सतत् निगाह रखीं जाकर अज्ञात आरोपियों की पहचान सुनिश्चित करने के प्रयास किये जा रहे थे। इसी दौरान दिनांक 05.03.2019 को भिलाई जिला दुर्ग में भी इसी प्रकार मोटर सायकल में सवार तीन अज्ञात आरोपियों द्वारा पिस्टल से फायर कर कैशियर से 9,19,000/- रूपये लूटने की घटना प्रकाश में आयी थी। जिस पर प्रकरण में पूर्व में आरोपी देवी प्रसाद बसोर एवं मनीष बसोर को दुर्ग पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया था, जिन्होंने पूछताछ में अपने उ.प्र. के साथियों के साथ मिलकर रायपुर में भी घटना कारित करना स्वीकार किया था। तब से लगातार उ.प्र. के शूटर आरोपियों के गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे थे, जिस पर पुनः थाना डी.डी.नगर एवं सायबर सेल की विशेष टीम का गठन कर टीम को आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु उ.प्र. के प्रतापगढ़ रवाना किया गया था। चूंकि आरोपी जावेद जिला प्रतापगढ़ थाना मान्धाता का हिस्ट्रीशीटर है जिसके उपर मारपीट, हत्या का प्रयास, लूट एवं चोरी के दर्जनों मामले दर्ज है इसलिए आरोपी की गिरफ्तारी में लगी टीम द्वारा आरोपी के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी एकत्रित कर उ.प्र. की एस.ओ.जी. टीम के साथ आॅपरेशन करते हुये आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त किया गया। आरोपी के कब्जे से 01 नग कट्टा एवं 02 नग राउण्ड जप्त किया गया है। गिरोह के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे है।

गिरफ्तार आरोपी – जावेद अहमद पिता शकील अहमद उम्र 27 साल निवासी ग्राम मदईपुर थाना मान्धाता जिला प्रतापगढ़ (उ.प्र.)।

Tags
Back to top button