आॅनलाइन ठगी के मास्टर माइंड भाई कोरबा से गिरफ्तार

बिलासपुर।

पिछले कई वर्ष से आॅनलाइन ठगी के मास्टर माइंड भाई को 22 राज्य की पुलिस तलाश कर रही थी। पुलिस ने गुरुवार को कोरबा से मास्टर माइंड भाई को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से नकद रकम, मोबाइल, एटीएम कार्ड, जेट एयरवेज के बोर्डिंग पास जब्त किया गया है। वे झारखंड के जामताड़ा गिरोह के लिए काम करते थे।

-एक लाख 45 हजार रुपए की आॅनलाइन खरीदी

चकरभाठा निवासी पूनम साहू पति राजू साहू के मोबाइल पर पांच मई 2018 को फर्जी बैंक अधिकारी का फोन आया। फोन करने वाले ने झांसा देकर उसके खाता से संबंधित जानकारी लेकर एक लाख 45 हजार रुपये की आॅनलाइन खरीदी कर ली। रिपोर्ट पर पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया।

फर्जी बैंक अधिकारी बनकर ठगी करने के इस मामले को आइजी दीपांशु काबरा, पुलिस अधीक्षक आरिफ एच. शेख ने गंभीरता से लिया। आरोपियों को पकड़ने की जिम्मेदारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चंद्राकर व अर्चना झा को दी गई। मोबाइल नंबर लोकेशन लिया गया।

इसमें फोन करने वालों के झारखंड के जामताड़ा जिले के होने की जानकारी हुई। यहां से टीम भेजा गई। टीम ने कई दिनों तक जिले के 100 से अधिक गांव में छानबीन की। यह जानकारी मिली कि गैंग का सरगना कलिम ने गांव वालों को फर्जी बैंक अधिकारी बनने का प्रशिक्षण देकर यह काम करवा रहा है।

ठग जानकारी लेकर कलिम को देते थे। कलिम पंजाब में बैठे मास्टर माइंड भाइयों विशाल गोयल व आशु गोयल पिता प्रेम गोयल को जानकारी भेजता था। दोनों भाई विभिन्न माध्यम से आॅनलाइन मनी ट्रांसफर करते थे। इसके बाद अपने हिस्सा की रकम काट कर शेष रकम कलिम के बताए खाते में ट्रांसफर करते थे।

मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया और पंजाब में बैठे मास्टर माइंड भाइयों को गिरफ्तार करने की योजना बनाई गई। दोनों के मोबाइल नंबर साइबर सेल को दिया गया। साइबर सेल को इनके मोबाइल का लोकेशन छत्तीसगढ़ के कोरबा में मिला। इस पर टीम को गिरफ्तार करने कोरबा रवाना किया गया।

कोरबा में इनके जिला न्यायालय में होने की जानकारी मिली। इसके बाद पुलिस ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी भाइयों विशाल व आशु को गिरफ्तार किया है।
-जब्त सामान
नगद रकम 40482 रुपये, आठ मोबाइल, 27 सिम कार्ड, पांच एटीएम कार्ड, एक पेन कार्ड, दो आधार कार्ड, जेट एयरवेज का दिल्ली से रायपुर का बोर्डिंग पास, एचडीएफसी बैंक का क्रेडिट कार्ड, बंधन बैंक का डेबिट कार्ड जब्त किया गया है।

– 80 से 90 लाख की ठगी

आरोपियों ने देश के विभिन्न राज्यों में 80 से 90 लाख रुपये की ठगी की है। पूछताछ में कुछ ओर मामलों के उजागर होने की संभावना है। दोनों आरोपियों की देश के 22 राज्यों को तलाश थी। इनको पकड़ने के लिए दिल्ली पुलिस छत्तीसगढ़ आई थी। 25 दिन कैंप करने के बावजूद आरोपी पुलिस पकड़ में नहीं आए थे।

Back to top button