अरविंद बोबड़े होंगे देश के सर्वोच्च न्यायालय के अगले चीफ जस्टिस

17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं मौजूदा मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई

नई दिल्ली:मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश व महाराष्ट्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, मुंबई और महाराष्ट्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, नागपुर के चांसलर अरविंद बोबड़े भारत के सर्वोच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश नियुक्त होंगा। बता दें मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई 17 नवंबर को रिटायर हो रहे हैं।

अरविंद बोबड़े 18 नवंबर को मुख्य न्यायाधीश का पदभार संभालेंगे। उनका कार्यकाल 23 अप्रैल 2021 तक होगा। आपको बता दें कि मुख्य न्यायाधीश ने केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को पत्र लिख जस्टिस बोबड़े को अगला मुख्य न्यायाधीश बनाए जाने का प्रस्ताव रखा था जिसपर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने हस्ताक्षर कर दिए हैं।

जस्टिस बोबड़े मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में 1 साल तक चीफ जस्टिस रह चुके हैं। इसके अलावा 12 वर्ष तक बॉम्बे हाइकोर्ट में जज भी रहे हैं। इस दौरान उन्होंने आधार, पर्यावरण और धर्म से जुड़ी कई मामलों में फैसले सुनाया है।

अयोध्या जमीन विवाद मामले की सुनवाई करने वाले पांच जजों की पीठ में जस्टिस बोबड़े भी शामिल हैं। वह आधार के अधिकार पर सुनाए गए तीन बेंच के जजों का हिस्सा रहे हैं। तीन सदस्यों की इस पीठ में जस्टिस बोबड़े के अलावा जस्टिस चेलमेश्वर और जस्टिस नागप्पन भी थे। इस ऐतिहासिक फैसले में पीठ ने आधार के बिना किसी भी भारतीय को उसके मौलिक अधिकारों से वंचित न किए जाने का फैसला सुनाया।

2016 में दिल्ली-एनसीआर में तीन विद्यार्थियों द्वारा दाखिल की गई याचिका पर भी जस्टिस बोबड़े ने फैसला सुनाया था जिसमें पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की गई थी। इस बेंच में जस्टिस बोबड़े के अलावा जस्टिस टीएस ठाकुर और जस्टिस एके सिकरी भी थे।

Back to top button