छत्तीसगढ़

बॉल समझ कर जैसे ही उठाया, युवक के हाथ में फटा ग्रेनेड बम

मनीष शर्मा:

मुंगेली: जिले के लोरमी का रहने वाला आदिवासी युवक संदीप ध्रुव बीते जुलाई महीने में रोजी रोटी की तलाश में कश्मीर के देवसर गया था। वहां बीते 14 जुलाई को वो घूमने के लिए निकला।

इसी दौरान उसे एक चमकीली बॉल नुमा कुछ दिखा। युवक ने उसे हाथ उठा लिया। कुछ देर बाद बॉल युवक के हाथ में ही फट गया। जांच में पता चला कि वो बॉल नहीं ग्रेनेड बम था। इस हादसे में संदीप की आंख, हाथ और पैर बुरी तरह जख्मी हो गया। इसके बाद श्रीनगर में 1 महीने तक उसका इलाज चला। फिर वो अपने गांव लोरमी वापस आ गया।

अब झोलाछाप डॉक्टर से इलाज कराने मजबूर

संदीप के पिता संतोष ध्रुव ने बताया कि यहां उसे इलाज के लिए भटकना पड़ रहा है। गरीबी के कारण बीते 3-4 दिनों से घर में ही झोला छाप डॉक्टर से बेटे का इलाज कराया जा रहा है।संदीप के परिवार वालों ने राज्य सरकार से बेहतर इलाज और मदद के लिये गुहार लगाई है।

Tags
Back to top button