15 और 16 अगस्त 2013 की रात आसाराम की गुरुकुल का सच

आसाराम के गुरुकुल में पढ़ने वाली लड़की की तबीयत खराब होती है. जिसे बाबा की अनुयायी लड़की प्रेत का साया बताती है और आसाराम बापू के पास समाधान के लिए जाने की सलाह देती है. 14 अगस्त 2013 को पीड़ित लड़की को आश्रम में आसाराम के पास ले जाया जाता है.

आसाराम- हम तुम्हारा भूत उतार देंगे. तुम कौन सी क्लास में पढ़ रही हो

पीड़िता- बापू, मैं सीए करना चाहती हूं.

आसाराम – सीए करके क्या करोगी तुम. बड़े से बड़े अधिकारी मेरे पैरों में पड़े रहते हैं. तुम तो बीएड करके शिक्षिका बनो. तुम्हें अपने गुरुकुल में शिक्षिका लगा दूंगा. इसके बाद में प्रिंसिपल भी बना दूंगा. अभी तुम पर भूत का साया है. तुम रात को वापस आओ. तुम्हारा भूत उतारूंगा.

पीड़ित लड़की- ठीक है बापू

फिर क्या हुआ…..

इसके बाद पीड़िता वहां से चली जाती है. 15 और 16 अगस्त 2013 की रात उसे कुटिया के अंदर बुलाया जाता है. कुटिया में रसोइया एक गिलास दूध लेकर आया. इसके बाद आसाराम ने लड़की के साथ वो किया, जो नहीं करना चाहिए था.

Back to top button