राष्ट्रीय

पेट्रोलिंग पार्टी को लीड कर रहे एएसआई अजित ने दो भागों में टूटते देखा विमान

एअर इंडिया का विमान रनवे पर दौड़ा जरूर लेकिन रुका नहीं

नई दिल्ली: कोझीकोड के करीपुर हवाई अड्डे पर एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान उतरते समय रनवे पर फिसल गया. यह विमान दुबई से यात्रियों को लेकर आ रहा था.
बताया जा रहा है कि विमान में 191 यात्री सवार थे. फिलहाल, विमान के फिसलने के कारणों का पता नहीं चल सका है.

मिली जानकारी के अनुसार, इस घटना में 18 लोगों की मौत हो गई है. 24 लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है.

वहीँ दुबई से कोझिकोड आ रही एअर इंडिया की फ्लाइट जब कालीकट इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लैंड हो रही थी उस वक्त एएसआई अजित एयरपोर्ट पर ड्यूटी पर तैनात थे. घटना के वक्त एएसआई अजित एयरपोर्ट के पेरिमीटर पर पेट्रोलिंग पार्टी को लीड कर रहे थे.

रनवे पर ASI अजित ने जो देखा उन्हें अपने आंखों पर यकीन नहीं हुआ. 184 पैसेंजर और 6 क्रू मेंबर के साथ आ रहा एअर इंडिया का विमान रनवे पर दौड़ा जरूर लेकिन रुका नहीं. विमान टेबलटॉप रनवे को पार कर आगे बढ़ गया दो हिस्सों में बंट गया. जहां ये घटना हुई वो एयरपोर्ट के गेट नंबर आठ के पास है.

कंट्रोल रूम और यूनिट लाइन को दी सूचना

ASI अजित ने घटना की गंभीरता को भांपते हुए तुरंत कंट्रोल रूम और यूनिट लाइन को सूचना दी. तब तक एटीसी को भी घटना की जानकारी नहीं थी. सूचना मिलते ही आस-पास के बैरक में रहने वाले केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) के 40 जवान, क्विक रिएक्शन टीम की पार्टी, कॉर्डन एंड सर्च ऑपरेशन (CASO) की टीम 10 मिनट के अंदर घटनास्थल पर पहुंच गई और रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई. तब तक एअर इंडिया की फायर टीम भी मौके पर पहुंच चुकी थी.

मौके की नजाकत को समझते हुए CISF जवानों के परिवार के सदस्य भी घटनास्थल पहुंच गए और रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गए. इन लोगों ने विमान में फंसे ज्यादातर लोगों को बाहर निकाला और घायलों को नजदीकी अस्पताल में पहुंचाया. इस बीच CASO ने स्थानीय और राज्य प्रशासन को भी इसकी सूचना दे दी.

लगभग 20 से 25 मिनट के बाद दूसरे स्टाफ और स्थानीय पुलिस भी रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई. लगभग 10 बजकर 5 मिनट पर NDRF की टीम घटनास्थल पर पहुंची और विमान के मलबे में फंसे दो लोगों को बाहर निकाला. बता दें कि इस हादसे में पायलट और को-पायलट समेत 18 लोगों की मौत हो गई है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button