भारत-चीन सहयोग के बिना के नहीं होगी 21वीं सदी की एशिया- चीनी मीडिया

पीएम नरेंद्र मोदी से शाम पांच बजे महाबलीपुरम में होगी मुलाकात

नई दिल्ली: राष्ट्रपति शी जिनपिंग करीब दो दिन की यात्रा के लिए शुक्रवार को चेन्नई पहुचेंगे. शी जिनिपंग दोपहर 2.10 बजे चेन्नई एयरपोर्ट पहुंचेंगे. इससे पहले पीएम मोदी सुबह 11.15 बजे चेन्नई पहुंच जाएंगे.

पीएम नरेंद्र मोदी से उनकी मुलाकात शाम पांच बजे महाबलीपुरम में होगी. इसके बाद दोनों नेता सांस्कृतिक कार्यक्रम में शामिल होंगे. समुद्र किनारे बसे इस प्राचीन शहर में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के भव्य स्वागत की तैयारियां हो रही हैं.

वहीं भारत की तारीफों के पुल बांधते हुए चीनी मीडिया ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के दौरे से पहले कहा कि भारत चीन सहयोग के बिना के 21वीं सदी एशिया की नहीं होगी. चीनी मीडिया ने भारत चीन दोस्ती का भी समर्थन किया है.

चीनी मीडिया ने कहा कि अगर भारत-चीन एक साथ बोलेंगे तो दुनिया सुनेगी. चीनी मीडिया का कहना है कि भारत और चीन दुनिया में बड़ी भूमिका निभा सकते है. ‘एशियाई सदी’ के नारे को लेकर पिछले कुछ समय से गर्मागर्म बहस हुई है.

कुछ एशियाई नेताओं और रणनीतिकारों का मानना है कि 19वीं सदी में दुनिया का यूरोपीयकरण हुई, 20 वीं सदी में अमेरिकीकरण और अब एशियाईकरण हो गया है. ग्लोबल टाइम्स ने कहा है कि अगर दोनों देश द्विपक्षीय संबंधों को संभालने में तर्कसंगत व्यवहार नहीं करते हैं, तो एशिया के बाहर की शक्तियों द्वारा दोनों के बीच वर्तमान मतभेदों का फायदा उठाया जाएगा.

आखिरी बार वुहान में मिले थे मोदी-जिनपिंग

इससे पहले साल 2018 में 27 और 28 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शी जिनपिंग वुहान में मिले थे. इस मुलाक़ात ने साल 2017 में डोकलाम को लेकर उपजे कुछ गतिरोधों को कम करने में भूमिका अदा की थी. उसके बाद से यह अगली बैठक होने जा रही है.

Back to top button