बड़ी खबरराजनीतिराष्ट्रीय

असम के मुख्यमंत्री ने मुसलमानों को लेकर दिया ये बयान

भारतीय मुसलमानों और प्रदेश में रहने वाले लोगों को चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि कोई भी उनके अधिकारों को नहीं छीन सकता है।

गुवाहाटी: असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि भारतीय मुसलमानों और प्रदेश में रहने वाले लोगों को चिंता नहीं करनी चाहिए क्योंकि कोई भी उनके अधिकारों को नहीं छीन सकता है।

सोनोवाल ने एक प्रेस वार्ता में कहा है कि मैं भारतीय मुसलमानों और यहां रहने वाले लोगों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि कोई भी असम की धरती के बेटों के अधिकारों को नहीं चुरा सकता है, हमारी भाषा या हमारी पहचान को कोई खतरा नहीं है।

प्रेस वार्ता को सबोधित करते हुए असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने आगे कहा है कि नागरिकता अधिनियम से किसी भी तरह से असम का सम्मान प्रभावित नहीं होगा। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर प्रदेश में विरोध कर रहे लोगों की इस पर अलग-अलग राय है। मैं गणतंत्र में यकीन करता हूं और हर उस शख्स का सम्मान करता हूं जो विरोध कर रहा है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि मोदी सरकार द्वारा लाया गया नागरिकता संशोधन अधिनियम पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न का शिकार होकर हिन्दुस्तान की शरण में आए हिंदू, ईसाई, सिख, बौद्ध और पारसी समुदायों के शरणार्थियों को भारत की नागरिकता पादन करता है, जो 31 दिसंबर, 2014 को या उससे पहले भारत में दाखिल हुए थे।

Tags
Back to top button