विधानसभा अपडेट : सदन में गूंजा गढ़िया पहाड़ सीसी रोड का मुद्दा; मूणत बोले- डंपिंग की दी गई अनुमति

रायपुर: छत्तीसगढ़ विधानसभा में शुक्रवार को गढि़या पहाड़ पर बनने वाली सीसी रोड निर्माण का मामला गूंजा. विपक्षी सदस्य शंकर ध्रुवा के प्रश्न के जवाब में लोकनिर्माण मंत्री राजेश मूणत ने कहा कि पहाड़ उत्खनन और डंपिंग की अनुमति शासन ने दी है और उसी के अनुरूप काम हो रहा है.

सदन में आज प्रश्नकाल के दौरान विपक्षी सदस्य शंकर ध्रुवा ने लोक निर्माण मंत्री से सवाल किया क्या कांकेर के गढ़िया पहाड़ में निर्माणाधीन सीसी रोड के निर्माण के दौरान पहाड़ के उत्खनन और निर्माण कार्य से प्राप्त मलबे को डंप करने या उक्त मलबे को व्यवस्थित रूप से अन्यत्र स्थान पर ले जाने के लिए वन विभाग और पर्यावरण विभाग की ओर से दिशा निर्देश निर्माण एजेंसी को दिए गए हैं क्या ?

यदि हां तो क्या कार्य एजेंसी या ठेकेदार की ओर से मलबे को अन्यत्र हटाया गया है ? यदि हां तो कब से और अब तक कितना मलबा निर्माण स्थल से हटाया जा चुका है और इस संबंध में ठेकेदार को कितनी राशि का भुगतान किया जा चुका है?

निर्माण कार्य में प्राप्त मलबे को किस स्थान पर बंद किए जाने का चयन विभाग की ओर से किया गया है ? उस स्थान पर वर्तमान में कितनी मात्रा में मलमा डंप किया गया है ?

लोक निर्माण मंत्री मूणत का जवाब :

इसके जवाब में लोक निर्माण मंत्री ने कहा कि हां गढ़िया पहाड़ में निर्माणाधीन सीसी रोड निर्माण के दौरान पहाड़ खनन और निर्माण कार्य से प्राप्त मलबे को वन संरक्षण अधिनियम 1980 अंतर्गत व्यपवर्तन के बिंदु द्वारा मलबे को अन्यत्र चिन्हांकित स्थान पर डंप करने तिरुपति छत्तीसगढ़ शासन वन विभाग के पत्र 6 मई 2015 को प्राप्त है .

माह मई 2015 से अप्रैल 2017 तक 49000 287 दशमलव 835 घनमीटर मलबा हटाया जा चुका है. इसकी लागत 29 लाख 27 हजार 697 ठेकेदार को भुगतान किया जा चुका है.

विभाग की ओर से जंगलवार प्रशिक्षण कॉलेज कांकेर के मेन गेट के दोनों ओर डंप किए जाने का चयन किया गया. उक्त चयनित स्थल पर मई 2015 से वर्तमान तक 49287.835 घन मीटर मलबा डंप किया गया है. </>

advt
Back to top button