ओडिशा में आकाशीय बिजली गिरने से कम से कम छह लोगों की मौत

उत्तर प्रदेश के 16 जिलों के 644 गांव अब भी बाढ़ से प्रभावित

ओडिशा: गुजरात में बीते तीन दिन में वर्षा संबंधित घटनाओं में 12 लोगों की मौत हुई है वहीँ भरूच, नर्मदा और वडोदरा जिलों में नौ हजार से ज्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. वहीँ ओडिशा में मंगलवार को आकाशीय बिजली गिरने से कम से कम छह लोगों की मौत हो गई.

दिल्ली में मौसम शुष्क

महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र में भारी बारिश और बांध से पानी छोड़ जाने के आलोक में 175 गांवों से 53,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. उत्तर प्रदेश के 16 जिलों के 644 गांव अब भी बाढ़ से प्रभावित हैं. दिल्ली में मौसम शुष्क रहा और धूप भी निकली. अधिकतम तापमान 34.7 डिग्र सेल्सियस के साथ सामान्य रहा. अधिकतम आर्द्रता 89 फीसद रही.

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को हल्की वर्षा होने का अनुमान व्यक्त किया है. ओडिशा के क्योंझर और बालेश्वर जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से 12 साल की एक बच्ची समेत छह लोगों की जान चली गयी.

महाराष्ट्र में विदर्भ क्षेत्र के नागपुर, भंडारा, चंद्रपुर और गढ़िचरौली जिलों में 175 गांवों से 53000 से अधिक लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाये गये. वहां भारी बारिश एवं बांध से पानी छोड़े जाने के बाद बाढ़ के हालात बन गये.

इन चार जिलों में 92000 से अधिक लोग बाढ़ एवं बारिश से प्रभावित हुए हैं. नागपुर संभागीय आयुक्त कार्यालय के अनुसार राष्ट्रीय आपदा मोचन बल, राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल और सेना समेत बचाव एवं राहत की ग्यारह टीमें चंद्रपुर और भंडारा जिलों में लगी हैं.

गुजरात के भरूच, नर्मदा और वडोदरा जिलों में 9000 से अधिक लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाये गये. नर्मदा नदी उफान पर है. राज्य में मंगलवार को वर्षा की तीव्रता कम हुई लेकिन पिछले तीन दिनों के दौरा वर्षा जनित घटनाओं में 12 लोगों की जान जा चुकी है.

उत्तर प्रदेश के 16 जिलों के 644 गांव बाढ़ से प्रभावित

उत्तर प्रदेश के 16 जिलों के 644 गांव बाढ़ से प्रभावित हैं. राज्य के कुछ हिस्सों में मंगलवार को हल्की वर्षा हुई . बाढ़ के कारण राज्य के 300 गांव अन्य जिलों से कट गये हैं. बलिया में गंगा नदी और लखीमपुर खीरी में शारदा खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार बुधवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश में कई स्थानों पर तथा पश्चिम उत्तर प्रदेश में कुछ स्थानों पर वर्षा/ गरज के साथ बौछारे पड़ने की संभावना है.

राजस्थान में मानसून की बारिश का दौर मंगलवार को भी जारी रहा और पूरे राज्य में हल्की से लेकर भारी बारिश हो रही है. जैसलमेर में सात सेंटीमीटर, जोधपुर के शेरगढ़ में सात सेंटीमीटर, बाड़मेर के शिव में पांच सेंटीमीटर, जालौर के भीनमाल में चार सेंटीमीटर, सिरोही के माउंट आबू में चार सेंटीमीटर, बारां के चिपाबारोड़ में तीन सेंटीमीटर बारिश दर्ज की. अनेक अन्य जगहों पर एक सेंटीमीटर या उससे अधिक बारिश हुई.

हरियाणा और पंजाब में अधिकतम तापमान मंगलवार को सामान्य सीमा के करीब रहा. मौसम विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी दी. मौसम विभाग के अनुसार दोनों राज्यों की राजधानी चंडीगढ़ में अधिकतम तापमान 33.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

हरियाणा के अंबाला में अधिकतम तापमान 34.4 डिग्री सेल्सियस रहा, वहीं हिसार में यह 32.4 डिग्री सेल्सियस के स्तर पर रहा. पंजाब में अमृतसर और पटियाला दोनों ही जगह अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने दोनों राज्यों में अगले दो दिन में कई स्थानों पर बारिश या गरज के साथ हल्की फुहार पड़ने का अनुमान व्यक्त किया है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button